कानपुर। दुनिया भर में आतंक का पर्याय बने संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर Masood Azhar को वैश्विक आतंकी घोषित कर दिया गया है। भारत के लिए यह बड़ी खुशखबरी यूएन से आई है। संयुक्त राष्ट्र में भारत के प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने ट्वीट करके बताया है कि मसूद अजहर का नाम संयुक्त राष्ट्र की प्रतिबंधित Banned सूची में जोड़ दिया गया है। बता दें कि मसूद अज़हर को वैश्विक आतंकी घोषित कर दिया जाना भारत सरकार की बड़ी कूटनीतिक जीत है, क्योंकि भारत लंबे समय से खासकर 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से इसके लिए बहुत जोर दे रहा था। दूसरी ओर चीन लगातार अपने वीटो का इस्तेमाल करके इस फैसले पर रोड़ा अटका रहा था।

कई बार वीटो लगाने के बाद इस बार चीन भी हुआ राजी
पुलवामा में आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack) को अंजाम देने वाला आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद भारत में कई बार खौफनाक हमले करवा चुका है। पाकिस्तान में पनाह लेकर आतंकी हमला कराने वाले इस संगठन का सरगना मसूद अजहर है। इस आतंकी गिरोह ने भारत ही नहीं अमेरिका और अन्य पश्चिमी देशों में भी आतंकी वारदातों को अंजाम दिया है। मसूद अजहर को आज UN ने अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित कर दिया गया है। मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा समिति के सदस्य देश अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस लगातार कोशिश कर रहे थे, लेकिन चीन बार-बार इस पर वीटो लगा दे रहा था। चीन अभी तक चार बार वीटो लगा चुका था, लेकिन पांचवीं बार मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर वह राजी हो गया।

un ने जैश सरगना मसूद अजहर को घोषित किया वैश्‍विक आतंकी,चीन ने दिया भारत का साथ-तब बनी बात

जैश का सरगना है मसूद अजहर
खूंखार आतंकी मसूद अजहर जैश-ए-मोहम्मद का सरगना है जो पाकिस्तान के बहावलपुर का रहने वाला है। मसूद अजहर ने मार्च 2000 में हरकत-उल-मुजाहिदीन में विभाजन करावाकर यह संगठन बनाया था। मसूद अजहर को साल 1994 में श्रीनगर पर हमले की योजना बनाते हुए गिरफ्तार किया गया था। लेकिन, 1999 में कंधार विमान अपहरण कांड में भारत सरकार को मजबूरन उसे रिहा करना पड़ा था। इसके अगले ही साल उसने जैश-ए-मोहम्मद नाम से आतंकवादी संगठन बना लिया। बता दें कि जैश-ए-मोहम्मद के चीफ मसूद अजहर को पाकिस्तान के बाहवालपुर में हाउस अरेस्ट में रखा गया था, भारत द्वारा बालाकोट एयर स्ट्राइक हमले के बाद उसे इस्लामाबाद में एक सेफ हाउस रखा गया था।

इन हमलों को दिया अंजाम
मसूद अजहर भारत में अब तक कई आतंकी वारदातों को अंजाम दे चुका है। 13 दिसंबर 2001 को मसूद अजहर ने ही भारतीय संसद पर हमला कराया था। इससे पहले अक्टूबर 2001 में उसने जम्मू-कश्मीर विधानसभा पर भी आतंकी हमला कराया था। 2 जनवरी 2016 को पंजाब के पठानकोट में वायुसेना की छावनी पर हुए आतंकी हमले का मास्टरमाइंड भी मसूद अजहर ही था। इसके अलावा, इसी साल 14 फरवरी को पुलवामा में सेना के काफिले पर हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी भी जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी।

Posted By: Chandramohan Mishra

International News inextlive from World News Desk