PATNA: शहर में हुए जलप्रलय से पटना नगर निगम खुद को पाक साफ बताने के मूड में है. पहले तो जलजमाव के लिए बुडको को जिम्मेदार बताया गया. उसके बाद मेयर ने नमामी गंगे प्रोजेक्ट की अनिमियताओं का हवाला देकर कहा कि जलजमाव का मुख्य कारण नमामी गंगे की खुदाई के कारण नालों का क्षतिग्रस्त होना है. अब निगम अपने अधिकारियों पर भी गाज गिराने को तैयार है. नगर निगम की तरफ से नाला उड़ाही पर उठे सवालों के पर विशेष जांच की मांग की गई है.

भेजा गया है पत्र

मेयर सीता साहू की तरफ से नगर विकास और आवास विभाग को पत्र भेजा गया है जिसमें स्पष्ट रूप से ये कहा गया है कि नाला उड़ाही पदाधिकारियों की निगरानी में होती है उसका वीडियो भी रिकॉर्ड किया जाता है. इसलिए विभाग निष्पक्ष जांच कराए और दोषियों पर कार्रवाई करे.

अधूरे काम की वजह से हुआ है जलजमाव

पटना नगर निगम का कहना है कि जलजमाव के लिए वे आधे अधूरे काम भी जिम्मेदार हैं जो कि पटना की सड़कों पर चल रहे थे. नमामी गंगे और बुडको की चयनित एजेंसी की तरफ से सड़कों को खोदा गया. इससे कई नालियां क्षतिग्रस्त हो गईं. जिसके कारण जलजमाव हुआ है. निगम की मेयर सीता साहू ने विभाग से अपील की है कि सभी बिंदुओं की निष्पक्ष जांच हो.