- पूरा सिस्टम पेपर लेस करने की तैयारी

- पेशेंट रिकॉर्ड से लेकर रजिस्ट्रेशन तक होगा ऑनलाइन

- अगले दो माह में हो सकता है सिस्टम शुरू

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) में रजिस्ट्रेशन, जांच और इलाज तक सारी प्रक्रिया को ऑनलाइन करने की तैयारी है. इसके बाद मरीजों से लेकर डॉक्टर्स तक को काफी सहूलियत होगी और डॉक्यूमेंट, रिपोर्ट खाने का भी डर नहीं होगा.

कागज का दुरुपयोग न हो

केजीएमयू प्रशासन संजय गांधी पीजीआई की तरह सेंट्रल पेशेंट मैनेजमेंट सिस्टम को बनाने की तैयारी कर रहा है. इसके तहत ही विभिन्न विभागों में डॉक्टर्स के कमरों तक इंटरनेट केबिल बिछा दी गई है. ओपीडी में भी कम्प्यूटराइजेशन का काम चल रहा है. पूरा सिस्टम शुरू होने के बाद पेशेंट की जांचों से लेकर इलाज की हिस्ट्री तक ऑनलाइन सिस्टम पर मौजूद होगी. सभी काम कम्प्यूटर से ही होंगे. पेशेंट्स को रिपोर्ट के लिए दौड़ना नहीं पड़ेगा. यह सिस्टम भले ही पीजीआई की तरह हो लेकिन पीजीआई के सिस्टम से इतर केजीएमयू में सबकुछ ऑनलाइन भी होगा. इसका फायदा होगा कि पेशेंट के घरवाले केजीएमयू प्रशासन से परमीशन लेकर अपने घर से भी अपनी रिपो‌र्ट्स और इलाज का डिटेल देख सकेंगे.

चल रहा परीक्षण

फिलहाल, केजीएमयू प्रशासन ने सिस्टम को पीडियाट्रिक सर्जरी और आंकोलॉजी विभाग में सिस्टम लग गए हैं और इसका ट्रायल चल रहा है. सभी खामियों को दूर करने के बाद सभी विभागों में लगाया जाएगा. इसके बाद सिस्टम शुरू कर दिया जाएगा.

संस्थान में पेशेंट मैनेजमेंट सिस्टम पर काम चल रहा है. प्रयास है कि ज्यादातर काम पेपरलेस सिस्टम से हो.

-प्रो. रविकांत

वीसी ,केजीएमयू.