टेंप्रेचर में अंतर

मोदीपुरम पीडीएफएसआर के अनुसार पारे में लगातार गिरावट जारी है. एक ओर जहां मोदीपुरम में रविवार को न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे दर्ज किया गया, वहीं चौ. चरण सिंह विश्वविद्यालय स्थित मौसम केंद्र में न्यूनतम तापमान 2.8 डिग्री दर्ज किया गया. अधिकतम आद्र्रता 93 और न्यूनतम 77 फीसदी दर्ज की गई. अगले 48 घंटे भी मौसम के लिहाज से काफी कठिनाई भरे दिन बीतने वाले हैं. अधिकतम तापमान 12-14 और न्यूनतम दो-तीन डिग्री से. के बीच बना रहेगा. शिमला, हरिद्वार, देहरादून, मसूरी, नैनीताल, आगरा की तुलना में भी मेरठ ज्यादा ठंडा रहा.

पारे को मार गया पाला

मेरठ में हाडक़ंपाती सर्दी का आलम यह है कि रात के साथ ही दिन का भी तापमान एक अंक में सिमट गया. तापमान बताने वाले पारे का आलम यह है कि पारे को पाला पड़ गया हो. मौसम विभाग के आंकड़ों पर गौर फरमाएं तो 24 घंटे में पारे ने पांच डिग्री से. भी कम का सफर तय किया है. अधिकतम तापमान 7.3 डिग्री से. रहा जबकि न्यूनतम 2.8 डिग्री. ऐसे में अधिकतम और न्यूनतम तापमान में अंतर महज साढ़े चार डिग्री से. दर्ज किया गया.

क्यों आ रहा पारे में अंतर

मौसम वैज्ञानिक एन. सुभाष का कहना है कि तापमान में इस तरह की असमानता पूरे देश में देखने को मिल रही है. दिल्ली में चार दशक तो कहीं तीन दशक का रिकॉर्ड टूट रहा है. मेरठ भी उससे अछूता नहीं है. चूंकि पीडीएफएसआर की आब्जर्वेटरी शहर से दूर और खुले इलाके में है, इसलिए शहर के तापमान से यहां के तापमान में अंतर आता है. यही वजह है कि कृषि विवि में तापमान -0.4 व चौधरी चरण सिंह विवि स्थित मौसम केंद्र में तापमान 2.8 रिकार्ड किया गया.

Posted By: Inextlive