मुंबई (पीटीआई)। महाराष्ट्र भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने गुरुवार को राज्य में सरकार बनाने में देरी के 'कानूनी पहलुओं' पर चर्चा के लिए राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की। कोश्यारी से मिलने वालों में मंत्री और राज्य भाजपा प्रमुख चंद्रकांत पाटिल और मंत्री सुधीर मुनगंटीवार और गिरीश भजन शामिल थे। पाटिल ने स्वीकार किया कि भाजपा और शिवसेना के बीच सत्तारूढ़ गठबंधन बनाने के लिए सामान्य से अधिक समय लग रहा है। कोशियारी से मुलाकात के बाद पत्रकारों से बात करते हुए पाटिल ने कहा, 'यह सच है कि महाराष्ट्र में सरकार के गठन के दावे में सामान्य से अधिक समय लगा है। हमने राज्यपाल के साथ वर्तमान स्थिति के कानूनी पहलुओं पर चर्चा की है। हम अपने नेताओं के साथ बातचीत करेंगे और अगली कार्रवाई तय करेंगे।'


शिवसेना ने भाजपा नेताओं पर साधा निशाना
इसी बीच गवर्नर से मुलाकात को लेकर शिवसेना ने भाजपा नेताओं पर निशाना साधा है। पार्टी ने अपने बयान में कहा है, 'इन नेताओं ने राज्यपाल से मुलाकात की और सरकार बनाने पर चिंता व्यक्त की, दरअसल, उनकी चिंता राज्य के बारे में नहीं है, अगली सरकार में उनकी स्थिति क्या होगी इसको लेकर है। जिन विधायकों का हिंदुत्व की विचारधारा से कोई लेना-देना नहीं है, उन्हें भाजपा पैसों से खरीदने की कोशिश कर रही है। हालांकि, हम यह दावा नहीं करते हैं कि यह सब भाजपा या मुख्यमंत्री के आशीर्वाद से हो रहा है।' बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव परिणाम आने के बाद से मुख्यमंत्री व मंत्रिपद को लेकर बीजेपी और शिवसेना के बीच गतिरोध बना हुआ है। राज्य विधानसभा चुनाव के परिणाम 24 अक्टूबर को घोषित हुए थे, जिसमें बीजेपी ने 105, शिवसेना-56, राकांपा-54 और कांग्रेस-44 सीटें जीतीं।

 

Posted By: Mukul Kumar

National News inextlive from India News Desk