-दैनिक जागरण आईनेक्स्ट की टीम आज राजनी-टी महाराजा अग्रेसन महाविद्यालय में सुबह 11:30 बजे

bareilly@inext.co.in

BAREILLY: मिलेनियल्स स्पीक 2019 के तहत ट्यूजडे को शाहजहांपुर रोड स्थित केसीएमटी कैंपस-टू में डिबेट हुई. दैनिक जागरण आईनेक्स्ट के ईवेंट में रेडियो सिटी रेडियो पार्टनर है. डिबेट में आरजे बुलबुल ने स्टूडेंट्स से सवाल किए, जिसमें स्टूडेंट्स ने अपने-अपने विचार रखे. स्टूडेंट्स ने देश की सिक्योरिटी, करप्शन, एजुकेशन, आरक्षण, ब्लैकमनी और महिला सिक्योरिटी पर अपनी राय दी.

एअर स्ट्राइक से मिली खुशी

आशुतोषपुरी ने बताया कि हमारे यहां एजुकेशन का स्तर सुधरना चाहिए, ताकि देश में सभी को शिक्षा मिल सके. निहारिका ने कहा कि इस समय हमारे लिए सबसे जरूरी है देश की सिक्योरिटी, जिसे हमारे देश के वायु सैनिकों ने पाकिस्तान पर हमला कर साबित कर दिया है. कहा किअब हम पाकिस्तान की नापाक हरकत अधिक दिन नहीं सहने वाले हैं, जिसका सभी ने समर्थन किया.

देश के लिए गर्व की बात
वीरेन्द्र ने कहा कि जब हमारे देश के 40 जवान पुलवामा में शहीद हुए थे, उसके बाद से देश के जन-जन में आक्रोश दिख रहा था. सबके मन में सवाल था कि इंडिया पाकिस्तान से कब बदला लेगा. सुबह जब न्यूज मिली कि इंडिया ने पाकिस्तान पर हमला कर आतंकी ठिकानों को ध्वस्त कर दिया है. इसके बाद तो देश में पूरे दिन जश्न का महौल बना रहा. यह देश के लिए गर्व की बात है कि हमने पाकिस्तान का जबाव दिया है.

पहले ही लेना था कड़ा एक्शन

गीता ने कहा कि हमारे देश की जांबाज आर्मी ने साबित कर दिया कि वह पाकिस्तान की हरकत को बर्दाश्त नहीं करेंगे. इसीलिए अब पाकिस्तान को सुधरने में अधिक वक्त नहीं लगाना चहिए, वर्ना उसके लिए खतरनाक परिणाम होंगे. इंडिया ने तो अभी शुरूआत की है. डौली ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ इंडिया को पहले ही कड़ा एक्शन लेना चाहिए था. कोई नहीं जागे तो देर से ही जागे. अब पाकिस्तान को समझ में आ गया होगा कि इंडिया में भी जांबाजों की कमी नहीं है.

प्राइमरी एजुकेशन में हो सुधार
इसी बीच यशस्वी ने कहा कि हमारे यहां पर जो प्राइमरी एजुकेशन है, उसमें सुधार की जरूरत है. एक तो प्राइमरी एजुकेशन में पढ़ाई नहीं है दूसरे उसमें मिड-डे मिल और शुरू कर दिया. जो बच्चे स्कूल आते हैं, वह तो सिर्फ मिड-डे मिल का ही इंतजार करते रहते हैं. मिड-डे मिल बंद होना चाहिए. केशव ने बात को ब्रेक देते हुए कहा कि मिड-डे मिल को बंद नहीं होना चाहिए उससे बच्चों को कम से कम खाना तो एक टाइम का मिलता है.

करप्शन के लिए हम ही जिम्मेदार
मुरशलीन ने कहा कि करप्शन हमारे देश से खत्म होना चाहिए. इसके लिए सरकार को कड़ा कदम उठाना चाहिए. कावेन्द्र ने कहा कि करप्शन कोई और तो खत्म नहीं कर सकता है जब तक हम लोग पहल न करे. काबेन्द्र की बात का समर्थन करते हुए कल्पना ने कहा कि जब तक हम लोग किसी को रिश्वत नहीं देगे तब तक कोई रिश्वत ले कैसे लेगा. इसीलिए करप्शन के लिए जिम्मेदार कहीं न कहीं हम लोग ही है. इसके साथ रितांशु, स्वाति सिंह, ब्रजेश कुमार ओर कमलेश कुमार ने अपनी राय रखी. कहा कि आरक्षण हमारे देश से अब खत्म हाेना चाहिए.

हमारी बात
नेता कोई भी हो, लेकिन वह कम से कम इतना तो पढ़ा लिखा हो जो हमारी बात को संसद में रख सके. हमारे देश को किस दिशा में ले जाना है उसके लिए समझे. इसके साथ इस बार वोट उसको होगा जो साफ छवि वाला भी हो क्योंकि देश के लिए नेता ही दिशा और दशा देने के लिए काफी हद तक जिम्मेदार होता है.

 



निहारिका

---------

कड़क बात
पूरी डिबेट में इंडिया की सिक्योरिटी और एयर स्ट्राइक और एजुकेशन में सुधार के साथ करप्शन का मुद्दा छाया रहा. जहां एक तरफ एयर स्ट्राइक पर स्टूडेंट्स खुशी जता रहे थे तो वहीं देश में एजुकेशन की व्यवस्था को सुधारने की जरूरत भी बता रहे थे. लोगों का कहना था कि हमारे यहां पर आज भी बेसिक एजुकेशन में सुधार की जरूरत है. इसीलिए उसमें सुधार प्राथमिकता से किया जाना चाहिए.

---------------------

सतमोला सब कुछ पचाओ

आरक्षण की बात पर कुछ स्टूडेंट्स का कहना था कि हमारे देश से अब आरक्षण खत्म करना चाहिए. कई स्टूडेंट्स इसका विरोध भी कर रहे थे. उनका कहना था कि आरक्षण को खत्म नहीं करना चाहिए, सिर्फ बदलाव करना चाहिए. आज जहां आरक्षण जातिगत दिया जा रहा है, उसे बंद कर आर्थिक स्थित को देखकर ही दिया जाना चाहिए.

==============================

-हमारे यहां पर सभी चाहते हैं कि करप्शन न हो लेकिन हम यह जानना चाहते है कि सभी लोग इसके लिए पहल क्यों नहीं करते. सभी लोगों को इसके लिए पहल करनी चाहिए.

आशुतोष

-----------------

-सरकार को चाहिए कि अनपढ़ तो नहीं कर सकते जॉब, लेकिन जो पढ़े लिखे है उन्हें तो जॉब मिल जानी चाहिए. सरकार यूथ को रोजगार के लिए कुछ करे.

वीरेन्द्र सिंह

----------------

एजुकेशन जो भी हो वह रोजगार परक हो, लेकिन हमारे यहां सभी यूजी और पीजी करने के बाद खाली घूमते रहते हैं. यह चिंता का विषय है. ऐसी एजुकेशन का कोई मतलब नहीं है.

स्वाति सिंह

--------------------

-देश में अब आरक्षण को खत्म करना चाहिए. लेकिन हमारे यहां पर लोग सभी आरक्षण की मांग करते जा रहे हैं. आरक्षण देश के लिए अच्छा नहीं है.

कल्पना

---------------------

आरक्षण देश में जातिगत खत्म करना चाहिए क्योंकि इससे कहीं न कहीं जातिवाद को बढ़ावा मिल रहा है. इसको आर्थिक स्थिित को देखने के बाद ही दिया जाना चाहिए.

यशस्वी

----------------------

-देश में नेताओं के लिए भी एजुकेशन की बाध्यता हो क्योंकि एक पढ़ा लिखा यूथ जब अनपढ़ नेता चुनता है तो वह उनकी समस्या को नहीं समझ सकता है.

गीता

----------------------

-प्राइमरी एजुकेशन के सिस्टम में सुधार की जरूरी है, लेकिन हमारी सरकार है कि प्राइमरी एजुकेशन पर सिर्फ पैसा खर्च कर रही है. सुधार नहीं अा रहा है.

डौली

--------------------

-हमारे देश की सेना ने जो एयर स्ट्राइक की है वह तारीफ के काबिल है, लेकिन हमारे देश के सभी लोगों को करप्शन मुक्त करने के लिए सभी को आगे आना चाहिए.

रजनीश शुक्ला