कानपुर। 3 दिसंबर 1982 को राजस्थान के जोधपुर में जन्मीं मिताली राज भारत की सबसे अनुभवी महिला क्रिकेटर हैं। मिताली ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत तब की थी, जब मौजूदा भारतीय कप्तान विराट कोहली सिर्फ 10 साल के थे। हालांकि मिताली तब भी टीम इंडिया में थी और आज भी हैं। यही वजह है कि मिताली ने क्रिकेट के तमाम रिकाॅर्ड अपने नाम किए।


मिताली राज को बचपन में डांस का काफी शौक था। मगर मिताली के पिता उन्हें क्रिकेटर बनाना चाहते थे। दाएं हाथ की इस महिला बल्लेबाज ने एक इंटरव्यू में इसका खुलासा किया था, कि वह तमिल फैमिली से आती है। ऐसे में उनके पूरे खानदान में किसी ने स्पोर्ट्स में हिस्सा नहीं लिया।

मां उन्हें डांसर बनाना चाहती थी, मिताली की भी यही ख्वाहिश थी मगर उनके पिता की जिद थी कि, वह अपनी बेटी को क्रिकेटर ही बनाएंगे। शुरुआत में क्लाॅसिकल डांस करने वाली मिताली को न चाहकर भी क्रिकेट बैट हाथ में पकड़ना पड़ा। आज मिताली कितनी बड़ी स्टार क्रिकेटर हैं, यह हम सभी जानते हैं।


मिताली राज ने अपने इंटरनेशनल क्रिकेट करियर का आगाज उस वक्त किया जब महिला क्रिकेट को इतनी तवज्जो नहीं मिलती थी। उस वक्त बहुत कम लोग महिला क्रिकेट टीमों का मैच देखने आते थे। यही नहीं बीसीसीआई भी अपनी महिला टीम को ज्यादा तवज्जो नहीं देता था, न उन्हें आज के हिसाब से सैलरी मिलती थी।

तमाम परेशानियों के बावजूद साल 1999 में मिताली ने पहला इंटरनेशनल मैच खेला। ये मुकाबला आयरलैंड के खिलाफ खेला गया था। पहले ही मैच में मिताली ने शानदार शतक लगाया। तब इस महिला बल्लेबाज ने 114 रन की पारी खेली थी और अंत तक नाबाद रही थी।


20 साल से क्रिकेट खेल रही मिताली ने 209 वनडे खेले हैं जिसमें उन्होंने 50.64 की औसत से 6888 रन बनाए। इसमें सात शतक और 53 अर्धशतक शामिल हैं। यही नहीं टेस्ट की बात करें तो इस बल्लेबाज ने 10 मैच खेलकर 663 रन बनाए। इसमें भी मिताली का टेस्ट औसत 51.00 का है। वहीं टी-20 में मिताली ने 89 मैचों में 2364 रन अपने नाम किए।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk