GORAKHPUR: मदन मोहन मालवीय यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नीकल व नेशनल पॉवर ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट (एनपीटीआई) फरीदाबाद के मध्य एकेडमिक सहयोग के लिए शुक्रवार को एक समझौते पर सिग्नेचर हुआ. एमएमएमयूटी की तरफ से वीसी प्रो. श्री निवास सिंह और एनपीटीआई की तरफ से महानिदेशक प्रो. राजेंद्र कुमार पांडेय ने समझौते पर सिग्नेचर किए. समझौते पर सिग्नेचर करने के दौरान एनपीटीआई के डॉ. मोहम्मद रिहान और एमएमएमयूटी के डॉ. प्रभाकर तिवारी भी उपस्थित रहे.

2024 तक रहेगा प्रभावी

यह समझौता सिग्नेचर की तारीख से पांच साल यानि 2024 तक प्रभावी रहेगा और दोनों पक्षों की सहमति से बढ़ाया जा सकेगा. इस समझौते के अंतर्गत दोनों संस्थान विद्युत ऊर्जा की दिशा में राष्ट्रीय लक्ष्यों के प्राप्ति के लिए मिलजुलकर काम करने को राजी हुए हैं. समझौते के अंतर्गत दोनों संस्थान रोजगार सृजन और उद्यमिता बढ़ाने के लिए संयुक्त रूप से कौशल विकास, प्रशिक्षण व क्षमता संवर्धन कार्यक्त्रम चला सकेंगे. इसके अतिरिक्त, दोनों संस्थान अपने लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए एक दूसरे के संसाधनों व बुनियादी ढांचा जैसे पुस्तकालय, प्रयोगशालाएं, परीक्षण व परामर्श सुविधाएं एवं परिसर में उपलब्ध अन्य सुविधाएं साझा करने पर भी सहमत हैं. समझौते के अनुसार, दोनों संस्थान अपने द्वारा आयोजित प्रशिक्षण एवं क्षमता संवर्धन कार्यक्त्रमों में दूसरे पक्ष के विशेषज्ञों, शिक्षकों एवं स्टूडेंट्स आमंत्रित कर सकेंगे.

दोनों संस्थान करेंगे एक दूसरे की मदद

दोनों संस्थान आपसी रूचि के प्रासंगिक विषयों पर संयुक्त रूप से कार्यशालाएं, सम्मेलन व संगोष्ठियां आयोजित करने पर भी सहमत हुए हैं. समझौते के अनुसार दोनों संस्थान अपने पाठ्यक्त्रमों तथा परीक्षण एवं परामर्श सुविधाओं के मानकीकरण के साथ-साथ अनुसंधान व विकास गतिविधियों के वाणिज्यीकरण में एक दूसरे की मदद करेंगे. अपने छात्रों, शोधकर्ताओं व शिक्षकों को और बेहतर अवसर उपलब्ध कराने के लिए एमएमएमयूटी ने किसी प्रतिष्ठत संस्थान के साथ इस वर्ष का आठवां समझौता किया है.

Posted By: Inextlive