ये है स्थिति

2600 के करीब जेल में हैं बंदी

101 - महिला है जेल में बंद

02 - महीने में एक बार होती है डीएम व एसएसपी की अचानक चेकिंग

04 - के करीब सिम हर बार जेल अधिकारियों की चेकिंग में बंदियों की बैरक में मिल जाते हैं.

02 जैमर लगाए जाएंगे शुरू में 4 जी के.

----------------

- जेल में बंद खूंखार बदमाशों की आपराधिक गतिविधियों पर लगेगा ब्रेक

- जेल के अंदर फोन से रंगदारी मंगाने के आ चुके हैं कई मामले

मनोज बेदी, बरेली : बरेली जेल की बैरकों में अब आपराधिक गतिविधियां संचालित करना गुजरे जमाने की बात होगी. जो हो भी रही हैं उस पर भी अब कड़ी नजर रखी जा रही है. इसी के तहत शासन ने बरेली की जिला जेल को 4 जी जैमरों से लैस करने के निर्देश जारी कर दिए हैं. इसके लिए जिला जेल प्रशासन ने पूरी तैयारियां कर ली हैं. जेल अधीक्षक यूपी मिश्रा का कहना है कि शासन के निर्देश पर जेल में जैमर लगाने की तैयारी शुरू कर दी है.

क्या है मामला

बरेली की जेल में कई खूंखार व इनामी रहे चुके बदमाश बंद हैं. जो जेल के अंदर रहकर आपराधिक गतिविधियों में लिप्त रहते हैं. इनकी जेल में अधिकतर शिकायतें मिलती रहती हैं.

मिल चुके हैं कई ब्लेड व चाकू

जेल में आकस्मिक चेकिंग में कई खूंखार व इनामी बदमाशों की बैरकों से चाकू, ब्लेड, सिम कार्ड, मोबाइल फोन तक मिल चुके है. जिससे जेल के कई बंदी रक्षकों पर कार्रवाई भी हो चुकी है.

अंदर का फोटो हो चुका वायरल

सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, बागपत व मेरठ समेत कई जेलों में इंटरनेट के जरिए जेल में हुए झगड़े का फोटो तक वायरल हो चुका है. जिसमें जेल प्रशासन की जमकर किरकिरी हुई थी. इन पर रोक लगाने के लिए शासन ने सभी जेलों में जैमर लगाने के निर्देश जारी किए थे.

यह होगा जैमर से फायदा

जेल में जैमर लगने से जेल परिसर में चलने वाले मोबाइल फोन के सिग्नल बंद हो जाएंगे. जिससे अगर कोई बंदी मोबाइल चलाने का प्रयास करेगा तो जेल परिसर में सिग्नल न मिलने के कारण फोन नहीं चलेगा.