मिलकर पूरा होगा बापू का सपना
नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के राजपथ पर आयोजित कार्यक्रम में कहा कि बापू का स्वच्छ भारत का सपना अभी अधूरा है. हम सभी देशवासी को मिलकर बापू के इस सपने को पूरा करना होगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा,'मैं जानता हूं कि इस अभियान की खूब आलोचना होगी, पर मुझे कोई परवाह नहीं है. लोग तरह-तरह की बातें करेंगे, लेकिन देशवासियों को इससे घबराना नहीं है. हमें इस मिल-जुलकर सफल बनाना है.' हालांकि इस मौके पर शौचालयों के अभाव का जिक्र करते पीएम ने कहा कि देश में 60 परसेंट से ज्यादा लोग खुले में शौच करने को मजबूर हैं. उन्होंने कहा कि माताओं-बहनों को भी खुले में शौच के लिये जाना पड़ता है, जो कि हमारे लिये कलंक की बात है.

क्या है शपथ
पीएम ने राजघाट पर मौजूद लोगों को सफाई और देशसेवा को लेकर शपथ दिलाई. शपथ में कहा गया कि,'मैं जिंदगी को दूर करके भारत माता की सेवा करुंगा. मैं शपथ लेता हूं कि मैं स्वंय स्वच्छता के प्रति सजग रहूंगा और उसके लिये समय दूंगा. हर साल 100 घंटे, यानी हर सप्ताह दो घंटे श्रमदान करके स्वच्छता के इस संकल्प को पूरा करूंगा. मैं न गंदगी करूंगा, न किसी और को करने दूंगा. सबसे पहले मैं स्वंय, अपने परिवार परिवार से, अपने मोहल्ले से, अपने गांव से और अपने कार्यस्थल से इसकी शुरूआत करूंगा. मैं यह मानता हूं कि दुनिया के जो भी देश स्वच्छ दिखते हैं, उसका कारण यह है कि वहां के नागरिक गंदगी नहीं करते और न ही होने देते हैं.

वाकेथन को दिखाई हरी झंडी
दिल्ली में राजपथ पर पीएम मोदी ने महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री का नाम लेकर 'अमर रहे' का नारा लगाया. इसके बाद पीएम ने राजपथ पर 'स्वच्छ भारत' अभियान के तहत वाकेथन को हरी झंडी दिखाई. मोदी सरकार के इस महत्वाकांक्षी कार्यक्रम की शुरूआत के मौके पर गणतंत्र दिवस की तरह ही जमीन से आसमान तक सुरक्षा की चाक चौबंद व्यवस्था की गई. इससे पहले, पीएम मोदी ने दिल्ली की वाल्मीकि बस्ती में अपने हाथों से झाड़ू लगाकर 'स्वच्छ भारत' अभियान की शुरूआत की. इस तरह उन्होंने देशभर में साफ-सफाई का संदेश दिया. वाल्मीकि बस्ती जाने के दौरान पीएम ने मंदिर मार्ग थाने का औचक निरीक्षण किया. वहां उन्होंने थाने के कैंपस में साफ-सफाई का भी जायजा लिया.

Hindi News from India News Desk

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

National News inextlive from India News Desk