चेन्नई (एएनआई)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ दूसरे अनौपचारिक शिखर सम्मेलन के लिए चेन्नई पहुंच गए हैं। बताया जा रहा है कि शी चिनफिंग का विमान दोपहर 2.10 बजे चेन्नई एयरपोर्ट पर लैंड करेगा। पीएम मोदी का हवाई अड्डे पर राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित और मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी सहित अन्य अधिकारियों ने स्वागत किया। बता दें कि पिछले साल 27 से 28 अप्रैल को वुहान में पीएम मोदी और चिनफिंग के बीच इस तरह की पहली बैठक हुई थी। वह मुलाकात काफी हद तक सफल रही थी।

महाबलीपुरम शहर में आयोजित की गई है समिट
इस साल यह अनौपचारिक बैठक महाबलीपुरम शहर में आयोजित की गई है, जो पल्लव राजवंश के दौरान बनाए गए मंदिरों और वास्तुकला के लिए प्रसिद्ध है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा कि महाबलिपुरम अनौपचारिक शिखर सम्मेलन चीन के राष्ट्रपति चिनफिंग और पीएम मोदी को द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक महत्व के मुद्दों पर अपनी चर्चा जारी रखने और भारत-चीन क्लोजर डेवलपमेंट पार्टनरशिप को गहन बनाने पर विचारों का आदान-प्रदान करने का अवसर प्रदान करेगा। यह समिट भी लगभग वुहान की तरह ही होगा। दोनों नेता शाम को महाबलीपुरम में मिलेंगे और यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों का दौरा करेंगे। इस दौरान पीएम मोदी चीनी राष्ट्रपति को अर्जुन की तपस्या, पांच रथ, समुद्र किनारे स्थित मंदिर ले जाएंगे जहां भव्य साजसज्जा की गई है। यही नहीं मोदी शी चिनफिंग को तकरीबन 1300 वर्ष पूर्व पहाड़ों को काट कर बनाये गये गुफाओं और भित्त चित्रों के दर्शन कराएंगे।


सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन
शुक्रवार शाम को शोर मंदिर में आने वाले नेता के सम्मान में एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। इसके बाद पीएम मोदी चीनी राष्ट्रपति को डिनर कराएंगे। वहीं, शनिवार को मोदी और शी की प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता के बाद एक बैठक होगी।

तीन भाषाओं में पीएम मोदी ने किया ट्वीट
चेन्नई पहुंचने के बाद पीएम मोदी ने तीन भाषाओं (अंग्रेजी, तमिल और चीनी) में ट्वीट कर राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ अपनी दूसरी अनौपचारिक शिखर बैठक के लिए विश किया है। अंग्रेजी, तमिल और चीनी भाषा में उन्होंने ट्वीट किया, 'चेन्नई में उतरा। मैं तमिलनाडु की महान भूमि में खुश हूं, जो अपनी अद्भुत संस्कृति और स्वागत के लिए जाना जाता है। यह खुशी की बात है कि तमिलनाडु राष्ट्रपति शी चिनफिंग की मेजबानी करेगा। यह अनौपचारिक शिखर सम्मेलन भारत और चीन के संबंधों को और मजबूत कर सकता है।


Modi Xi Summit: बैठक से पहले जानें महाबलीपुरम का चीन कनेक्शन

 

 

Posted By: Mukul Kumar

National News inextlive from India News Desk