-बिहार में अब तक डेंगू के 1404 केसेज मिले

patna@inext.co.in

PATNA: पटना में डेंगू का आतंक कहर बरपा रहा है. शनिवार की शाम तक बिहार में डेंगू का आंकड़ा 1404 तक पहुंच गया है. जबकि इसमें सर्वाधिक 974 पेशेंट पटना के मिले हैं. इधर, चिकनगुनिया भी तेजी से अपना पांव पसार रहा है. इस सीजन में प्रदेश स्तर पर 140 पेशेंट मिले हैं इसमें से 124 पेशेंट पटना से हैं. चिकनगुनिया में 26 पीएमसीएच, 89 आरएमआरआई जबकि नौ पेशेंट एनएमसीएच से मिले हैं. इस सीजन में यह पहला मौका है जब डेंगू के साथ चिकनगुनिया के नए पेशेंट मिले हैं. लगातार बढ़ रही बीमारी से लोग दहशत में हैं.

डेंगू और चिकनगुनिया को नोटिफाइबल डिजीज घोषित किया गया है. चिकनगुनिया का एक भी केस बिहार से बाहर का नहीं मिला है. इस नाते प्राइवेट हॉस्पिटलों से भी पीएमसीएच और एनएमसीएच में डेटा उपलब्ध कराया जा रहा है. पीएमसीएच में शनिवार को करीब 150 डेंगू केसेज की जांच हुई.

हर जगह से आ रहे पेशेंट

पीएमसीएच के डेंगू वार्ड में हर जगह से पेशेंट आ रहे हैं. शनिवार की शाम तक यहां 34 पेशेंट का इलाज चल रहा था. इसमें केवल पटना ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश से पेशेंट आ रहे हैं. इसमें एक गया से पंकज कुमार, बोरीवली से अमन कुमार, रक्सौल से लक्ष्मी साह, और सिंगूर से पूर्णेदू प्रसाद नये पेशेंट के तौर पर एडमिट किये गए. पीएमसीएच के इमरजेंसी इनचार्ज डॉ अभिजीत सिंह ने बताया कि सभी पेशेंट का उपचार किया जा रहा है. लेकिन हाल के दिनों में अब पटना के अलावा अन्य जिलों से भी बड़ी संख्या में पेशेंट मिल रहे हैं.

लार्वा नष्ट करने में आई तेजी

राज्य स्वास्थ्य समिति से मिली जानकारी के अनुसार पहले से राजेंद्र नगर समेत जलजमाव से पीडि़त क्षेत्रों में एंटी लार्वा स्प्रे के लिए 10 टीम कार्यरत थी. शनिवार को इसके लिए 20 दल गठित कर दिया गया है. इसके साथ ही सभी डेंगू एवं चिकनगुनिया के लिए चिह्नित जांच केन्द्र जैसे पीएमसीएच और एनएमसीएच में एनएस वन और एलाइजा किट पर्याप्त संख्या में उपलब्ध कराया गया है. जबकि मुख्य मलेरिया कार्यालय, सुल्तानगंज में इन कीटों का बफर स्टॉक कर रखा गया है. राज्य स्वास्थ्य समिति के द्वारा संचालित हेल्थ कैंप में शनिवार को 2626 पेशेंट का उपचार किया गया. इसके अलावा टेमीफॉश का छिड़काव राजेंद्र नगर, कंकडबाग और पाटलिपुत्र कॉलोनी में कराया गया है.