-फॉगिंग के नाम पर औपचारिकता पूरी, पटना में डेंगू ने पसारे पैर, अब तक मिल चुके हैं 115 पेशेंट्स

patna@inext.co.in

PATNA: एक तरफ स्वास्थ्य विभाग ने डेंगू को लेकर पूरे प्रदेश में अलर्ट जारी किया है. दूसरी तरफ मानसून के खत्म होने के साथ ही मच्छरों से होने वाली बीमारियों के खतरा दिन प्रति दिन बढ़ता ही जा रहा है. पटना नगर निगम की ओर से मोहल्लों में उचित मात्रा में फॉगिंग नहीं होने से बीमारियों ने पैर पसारना शुरू कर दिया है. हालांकि पटनाइट्स ने अपने घरों में मच्छर भगाने के लिए तमाम तरह के उपाय किए. इससे मच्छर कितने भागे इसका तो पता नहीं लेकिन मच्छर अगरबत्ती व मच्छर लोशन वाली कंपनियों को काफी फायदा हुआ. पिछले एक माह की अगर बात करें तो 1.5 करोड़ रुपए के मच्छर अगरबत्ती व 10 लाख रुपए के मच्छर लोशन का कारोबार हुआ है. इसके बावजूद न तो स्वास्थ्य विभाग सचेत हो रहा है और न ही अस्पतालों में डेंगू जैसे खतरनाक बीमारियों से बचने का उचित प्रबंध अस्पताल प्रशासन की ओर से किया जा रहा है.

115 से अधिक डेंगू के पेशेंट्स

सिविल सर्जन कार्यालय से मिली जानकारी के पटना के विभिन्न अस्पतालों 115 डेंगू पॉजिटीव मरीज मिल चुके हैं. पीएमसीएच के अधिकारियों की मानें तो डेंगू का एक भी भर्ती मरीज नहीं है. मगर ओपीडी में इलाज कराने वाले करीब 60 मरीज डेंगू पॉजिटीव हैं. पीएमसीएच के अधीक्षक डॉ. राजीव रंजन ने बताया कि डेंगू से बचाव के लिए अस्पताल में स्पेशल वार्ड तैयार किया गया है. इतना ही नहीं डेंगू वार्ड में मरीज को इलाज के लिए 24 घंटे चिकित्सकों की उपलब्धता निश्चित किया गया है.

अधिकतर क्षेत्रों में फॉगिंग नहीं

पटना नगर निगम पटना में फॉगिंग के नाम पर हर साल करोड़ों रुपए खर्च करता है. लोगों की मानें तो आलम यह है कि नाले किनारे बसे इलाकों में फॉगिंग के नाम पर औपचारिकता पूरी की जा रही है. राजीव नगर नाले के किनारे रहने वाले अशोक अनुराग बताते हैं कि दिल्ली से पटना आए हुए 6 माह हो गया. मगर राजीव नगर तो दूर की बात है पटना के अधिकतर इलाके में फॉगिंग के नाम पर औपचारिकता पूरी की जा रही है. इससे लोगों का स्वास्थ्य खतरे में है.

लोग परेशान, दुकानदारों की चांदी

पटना में डेंगू के मरीज मिलते ही लोगों ने मच्छर से बचने के लिए विभिन्न कंपनियों के मच्छर अगरबत्ती, लिक्विड व लोशन लगाना शुरू कर दिया है. पटना सिटी के मच्छर अगरबत्ती के कारोबार करने वाले व्यापारी उमर अब्दुला बताते हैं कि मानसून खत्म होने के साथ ही मच्छरों का जन्म होने लगा है. पिछले एक माह लगभग डेढ़ करोड़ रुपए के मच्छर अगरबत्ती का सेल पटना और उसके आसपास के इलाकों में हुआ है.

हर वार्ड में मार्निग व इवनिंग फॉगिंग की व्यवस्था की गई है. अगर फॉगिंग नहीं हो रही है तो संबंधित इंस्पेक्टर से मैं बात करता हूं. समस्या का निदान कराया जाएगा.

-संजय कुमार, पीआरओ, पटना नगर निगम

डेंगू से बचने के लिए लोग मच्छर अगरबत्ती का यूज करते हैं. विभिन्न कंपनियों के अनुसार पटना के व्यापारियों ने करीब डेढ़ करोड़ के मच्छर अगरबत्ती का सेल किया है.

-उमर अब्दुला, व्यापारी, मच्छर अगरबत्ती