- गंदे पानी में पनप रहा है लार्वा

- मरीजों पर मंडरा रहा है संक्रमण का खतरा

बरेली: किसी परिजन का इलाज कराने के लिए डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में एडमिट कराने जा रहे हैं तो मच्छरानी साथ ले जाना न भूलें. असल में हॉस्पिटल के अंदर ही कई जगह जलभराव के चलते मच्छर पनप रहे हैं. ऐसे में आप या आपका मरीज मलेरिया या मच्छरों से होने वाली किसी दूसरी बीमारी की चपेट में आ सकते हैं. अफसरों की लापरवाही के चलते डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में एडमिट मरीजों और तीमारदारों पर भी मलेरिया का खतरा मंडरा रहा है. हॉस्पिटल के अंदर ही लीकेज सीवर से हो रहे जलभराव में मच्छरों का लार्वा पनप रहा है, लेकिन अफसर आंखें मूंदे हैं.

लगातार बढ़ रहे मरीज

इस साल अब तक जिले भर में करीब 13 हजार मरीज मलेरिया की चपेट में आ चुके हैं. इसमें बड़ी संख्या में पीवी और पीएफ मलेरिया के भी मरीज मिले हैं. इसके बाद भी स्वास्थ्य विभाग के अफसर मलेरिया की रोकथाम के लिए ठोस प्रयास नहीं कर रहे हैं.

हॉस्पिटल में पनप रहे मच्छर

डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल की ओपीडी के पीछे कई दिनों से सीवर लीकेज के कारण गंदा पानी भर रहा है. इस गंदे पानी में मच्छर भी पनप रहे हैं. लेकिन हॉस्पिटल के जिम्मेदार न तो लीकेज सीवर को ठीक करवा रहे हैं और न ही एंटी लार्वा का छिड़काव करवा रहे हैं.

मरीजों पर मंडरा रहा खतरा

बीते साल भी जिले भर में बड़ी संख्या में लोग मलेरिया की चपेट में आए थे और कई मरीजों की मलेरिया के चलते मौत भी हो गई थी. इसके बाद भी जिम्मेदारों ने कोई सबक नहीं लिया. हॉस्पिटल के अंदर मच्छर पनपने के कारण यहां एडमिट मरीज और उनके तीमारदारों पर मलेरिया, डेंगू और चिकनगुनिया का खतरा मंडरा रहा है.

जिला अस्पताल परिसर में पीछे की ओर गंदा पानी भरा हुआ है. देखने पर कोई भी कह सकता है कि यहां कई दिन से सफाई नहीं हुई है.

दिगराज सिंह, तीमारदार

गंदे पानी में मच्छर पनपने लगे हैं. इससे लोगों परेशानी होने लगी है नालियों में चूने और कीटनाशक का छिड़काव किया जाना चाहिए.

अरविंद, तीमारदार

वर्जन

नगर निगम को सीवर की समस्या से अवगत कराया था. नगर निगम को दोबारा पत्र भेजा जाएगा. जल्द ही सीवर लाइन को दुरुस्त कराया जाएगा.

डॉ. टीएस आर्या, सीएमएस