-दवा न मिलने को लेकर टवीट कर पुलिस से मांगी मदद

बरेली- शहर में लॉकडाउन 4 में छूट दी गई है लेकिन जिस तरह से हॉटस्पॉट एरिया से लोग निकल रहे हैं, उससे तो लगता है कि इन लोगों को भी छूट दी गई है। बैरियर और पिकेट पर पुलिसकर्मियों की ड्यूटी तो लगाई गई है लेकिन ड्यूटी में तैनात पुलिसकर्मी साइड में बैठकर मोबाइल में ज्यादा बिजी रहते हैं, जबकि ट्यूजडे को एसएसपी ने यहां निरीक्षण कर पुलिसकर्मियों को सख्त हिदायत दी थी लेकिन इसका कोई फर्क नहीं पड़ा।

दायरा कम है फिर भी

बरेली शहर में इस वक्त दो हॉटस्पॉट बने हैं, जिसमें एक हॉटस्पॉट बिहारीपुर और दूसरा बानखाना है लेकिन दोनों जगह लोगों का मूवमेंट रहता है। सभी हॉटस्पॉट में कई-कई बैरियर के साथ पिकेट भी लगाए गए हैं लेकिन लोग बल्लियां जंप कर निकल जाते हैं। जब सबसे पहले सुभाषनगर में हॉटस्पॉट बना था लोग मूवमेंट नहीं कर पाते थे, जबकि यहां का एक किलोमीटर का एरिया सील था। अब सिर्फ 400 मीटर एरिया ही सील है लेकिन फिर भी पुलिस की ढिलाई हो रही है। आने वाले दिनों में और दायरा कम हो जाएगा। ऐसे में पुलिस की अधिक सख्ती होनी चाहिए ताकि कोरोना वायरस का फैलाव कम हो सके।

बच्ची की दवा के लिए मांगी मदद

बानखाना हॉटस्पॉट में सभी जरूरी सामान की होम डिलीवरी की जा रही है लेकिन यहां के लोग दवा न मिलने से परेशान हैं और पुलिस को टवीट कर मदद मांग रहे हैं। एक शख्स ने पुलिस को टवीट किया कि एक बच्ची की दवा आनी है। एरिया सील होने से वह बाहर नहीं जा सकते हैं। ऐसे में मदद करें। इस पर पुलिस के द्वारा उन्हें एडीएम प्रशासन व डिस्ट्रिक्ट कंट्रोल रूम के नंबर देकर संपर्क करने के लिए बोला गया।

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner