10 दिन पहले से चल रही है काउंसलिंग प्रक्रिया

100 कैंडिडेट्स को एमएससी इंडस्ट्रियल की कांउसलिंग में बुलाया गया

- 32 कैंडिडेट्स ने ही अपनी सीट लॉक कराई

- 301 से 750 रैंक तक के कैंडिडेट्स को संडे को बीएलएड की काउंलिंग के लिए बुलाया गया है

-----------------

- एमएससी की काउंसलिंग प्रक्रिया शुरू होने से पहले ही करने लगते हैं काउंसलिंग

-कैंडिडेट्स को अपने कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए देते हैं तरह-तरह के ऑफर

बरेली: आरयू में चल रही एमएससी की काउंसलिंग में निजी कॉलेजों ने पूरी तरह कब्जा कर रखा है. यहां तक कि आरयू की काउंसलिंग शुरू होने से पहले ही कैंडिडेट्स की काउंसलिंग करना शुरू कर देते हैं. ताकि कैंडिडेट्स उनके निजी कॉलेजों में एडमिशन ले लें. इसके लिए वह तरह-तरह के लुभावने ऑफर देने से भी नहीं चूकते हैं. हालांकि इस बारे में आरयू के जिम्मेदार भी अच्छी तरह से जानते हैं लेकिन इसके लिए अंजान बने बैठे हुए हैं. आरयू के प्रवेश समन्वयक से जब इस बारे में बात की गई तो उन्होंने चीफ प्रॉक्टर से सुरक्षा बढ़वाने की बात कही है.

जिम्मेदार क्यों नहीं बोलते

एमएससी कोर्सेस के लिए काउंसलिंग प्रक्रिया करीब 10 दिन पहले से चल रही है. काउंसलिंग प्रक्रिया में पहले ही दिन से निजी कॉलेजों ने कैंडिडेट्स को अपने कॉलेज में एडमिशन के लिए गुमराह करना शुरू किया था. लेकिन इस बारे में आरयू के किसी जिम्मेदार को जानकारी नहीं है. अब ऐसे में सवाल उठता है कि क्या निजी कॉलेज आरयू की चल रही काउंसलिंग में अफसरों की शह पर बैठे थे और अफसरों की शह नहीं थी तो निजी कॉलेज वालों को बैठाया ही क्यों गया.

इंडस्ट्रियल की हुई थी काउंसंिलंग

सैटरडे को एमएससी इंडस्ट्रियल की कांउसलिंग हुई. जिसमें 100 कैंडिडेट्स को बुलाया गया था. जिसमें से 32 कैंडिडेट्स ने ही अपनी सीट लॉक कराई है. यह जानकारी आरयू प्रवेश समन्वयक प्रो. एसके पाण्डेय ने दी है. उन्होंने बताया कि संडे को बीएलएड की काउंलिंग होगी. जिसमें 301 से 750 रैंक तक के कैंडिडेट्स को बुलाया गया है.

===================

-प्रवेश परीक्षा की काउंसलिंग में निजी कॉलेजों के किसी भी कर्मचारी को बैठने की अनुमति नहीं है. इसके लिए चीफ प्रॉक्टर की बात कर सुरक्षा कड़ी कराई जाएगी. ताकि कैंडिडेट्स अपनी काउंसलिंग मनचाहे कॉलेज में करा सकें.

प्रो. एसके पाण्डेय, प्रवेश को-आर्डिनेटर