रिजेक्ट हुई मैसेंजर ऑफ गॉड

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख बाबा गुरूमीत राम रहीम सिंह की फिल्म को सेंसर बोर्ड से रिलीज की अनुमति प्राप्त नहीं हुई है. गौरतलब है कि सेंसर बोर्ड ने कहा कि इस फिल्म के रिलीज होने से देश की कानून व्यवस्था के लिए गंभीर खतरा पैदा हो सकता है. इसके साथ ही फिल्म की रिलीज रोकने के लिए कई अन्य कारण भी जिम्मेदार हैं. सेंसरबोर्ड की सदस्य नंदिनी सरदेसाई ने कहा कि यह फिल्म अंधविश्वास को बढ़ावा देती दिखाई पड़ती है.

धार्मिक भावनाएं आहत होने का खतरा

See Also

सेंसर बोर्ड ने कहा कि यह फिल्म धार्मिक भावनाएं आहत कर सकती है और फिल्म के कई दृश्यों में अवैज्ञानिक स्टंट दिखाए हैं. मसलन फिल्म में कई जगह बाबा अपने आपको भगवान बताते हैं और अवैज्ञानिक चमत्कार करते दिखाई देते हैं. इसके अलावा सेंसर बोर्ड ने कहा है कि बाबा ने अपने आपको भगवान के रूप में प्रजेंट किया है और यह फिल्म एडवरटाइजमेंट की माफिक लगती है.

फिल्म निर्माताओं कहा नो कमेंट

सेंसर बोर्ड द्वारा फिल्म की रिलीज रोके जाने के संबंध में बाबा गुरूमीत राम रहीम दास या फिल्म की प्रॉडक्शन टीम की तरफ से अब तक कोई बयान नहीं आया है. लेकिन फिल्म प्रॉडक्शन टीम को फिल्म रिलीज कराने के लिए सेंसर बोर्ड के सामने फिर से गुहार लगानी होगी.

Hindi News from Entertainment News Desk

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk