कांग्रेस के ममता बनर्जी के प्रेशर के आगे झुकने के बाद त्रिवेदी ने रिजाइन कर दिया था. त्रिवेदी द्वारा पेश रेल बजट में बढ़ाए गए सभी श्रेणियों के किराए में कम से कम सामान्य श्रेणी के किराए वापसी के चांसेज हैं.

57 इयर ओल्ड राय की स्वीरिंग इन सेरेमनी  एक फार्मल फंग्शन में प्रेसिडेंट हाउस में प्रेसिडेंट प्रतिभा पाटिल ने कंपलीट की. प्रेसिडेंट हाउस से रिलीज एक प्रेस नोट में कहा गया कि मुकुल राय को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की सिफारिश पर रेल मिनिस्ट्री का चार्ज दिया गया है.

पहले राय केन्द्रीय जहाजरानी राज्य मंत्री थे और पिछले साल जुलाई में त्रिवेदी के रेल मंत्री बनने से पहले रेल राज्यमंत्री थे. स्वीरिंग इन सेरेमनी में वाइस प्रेसिडेंट हामिद अंसारी, प्राइम मिनिस्टर मनमोहन सिंह, सोनिया गांधी और तृणमूल कांग्रेस के मिनिस्टर्स सहित कैबिनेट मंत्री शामिल हुए.

शपथ लेने के बाद राय किराए में बढोत्तरी संबंधी सवालों को टाल गए. पूछे जाने पर कि क्या यात्री किरायों में हुई बढोत्तरी वापस ली जाएगी, राय ने कहा, ‘‘मुझे जो कुछ भी कहना होगा, मैं पार्लियामेंट में कहूंगा क्योंकि रेल बजट संसद का मामला है.’’

पश्चिम बंगाल की चीफ मिनिस्टर ममता बनर्जी ने त्रिवेदी द्वारा पेश रेल बजट में यात्री किराए में बढोत्तरी की आलोचना की थी जिसके बाद काफी खींचतान के बाद त्रिवेदी ने संडे को रिजाइन कर दिया था.

कांग्रेस नेतृत्व ने तृणमूल कांग्रेस के सामने झुकते हुए त्रिवेदी की जगह राय को रेल मंत्री बनाने को हरी झंडी दिखाई. ममता ने कल संकेत दिए थे कि रेल बजट में बढाए गए सामान्य श्रेणी के किराए को वापस लिया जा सकता है.

प्रधानमंत्री ने राज्यसभा से राय का परिचय कराया जबकि लोकसभा में विपक्षी भाजपा सदस्यों ने सदन में रेल बजट पर चर्चा शुरू होते समय राय की अनुपस्थिति पर आपत्ति जताई. राय ने स्पीमकर मीरा कुमार से कहा कि राज्यसभा में परिचय पूरा होते ही वह तुरंत इस सदन में आ गए.

National News inextlive from India News Desk