- 25 मार्च को डोईवाला निवासी किसान मलकीत की हुई थी हत्या

- 6 बदमाशों ने रची थी लूट की साजिश, एक आरोपी पहचाना तो कर दी हत्या

- हत्या से पहले मलकीत की महिला मित्र से किया था छत पर गैंग रेप

देहरादून: डोईवाला निवासी मलकीत सिंह हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. 6 दोस्तों ने उसके घर लूट की साजिश रची थी. वारदात को 5 ने अंजाम दिया. लूट के मकसद से पहुंचे पांचों ने घर पर उसे महिला मित्र के साथ पाया, पहले मलकीत को बेहोशी के दो इंजेक्शन दिए फिर घर खंगाला. घर में ज्यादा कुछ नहीं मिला तो उसकी महिला मित्र को छत पर ले जाकर उसके साथ गैंग रेप किया. मलकीत ने एक आरोपी को पहचान लिया था, इसलिए पुलिस की पकड़ में आने के डर से दो ने मिलकर उसका गला रेत दिया. मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि तीन फरार हैं.

मलकीत के ठाठ देख लूट की साजिश

हत्या और गैंगरेप कांड का खुलासा करते हुए एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने बताया कि सभी आरोपी दोस्त हैं. इनमें से गिरफ्तार किए गए शुभम की मलकीत के घर अक्सर जाने वाले पप्पू नाम के व्यक्ति से दोस्ती थी. शुभम ने बताया कि वह पप्पू के साथ कई बार मलकीत के घर गया था. इसी बीच उसे पता चला कि मलकीत ने जमीन बेची है और उसके घर में 80 से 90 लाख रुपये हैं. शुभम ने अपने दोस्तों को इकट्ठा किया और मलकीत के घर लूट की साजिश रची.

दिन भर की मलकीत के घर की रेकी

शुभम को पता था कि मलकीत अकेले रहता है, 25 मार्च को उसके घर लूट की साजिश रची गई. साजिश के मुताबिक उसने अपने दो साथी लक्ष्य और मुकुल को मलकीत के घर की रेकी करने भेजा. दोनों घंटों मलकीत के घर के आसपास घूमते रहे. घर में घुसने और भागने के रास्तों की रेकी करने के बाद रात में सभी भानियावाला तिराहे पर मामा-भांजा रेस्टोरेंट में इकट्ठा हुए. खाना खाया और शराब पी. लक्ष्य नशे में धुत हो गया. इसके बाद पांचों लक्ष्य को वहीं छोड़ स्कूटी व बाइक से मलकीत के घर के लिए रवाना हुए.

मलकीत को इंजेक्शन देकर किया बेहोश

मलकीत के घर के पास स्कूल के बाहर पांचों ने गाडि़यां खड़ी कीं और घर का गेट फांद शुभम, उज्जवल, अर्जुन, अमन और मुकुल शर्मा अंदर घुस गए. घर में दाखिल होने पर पांचों ने देखा कि मलकीत एक 19-20 साल की युवती के साथ आपत्तिजनक स्थिति में है. पांचों ने मलकीत को पिस्टल और चाकू की नोक पर लेकर हाथ-पैर बांध दिए. अमन ने उसके कूल्हे पर दो इंजेक्शन लगा दिए, जिससे वह बेहोश हो गया. उसे कमरे में बंधक बनाने के बाद लड़की को डरा-धमकाकर चुप करा दिया. फिर पांचों ने घर खंगाल डाला. बमुश्किल 15 हजार रुपये और एक-डेढ़ लाख रुपये के जेवर ही मिले, जबकि पांचों को यहां से कम से कम 80 लाख रुपये मिलने की उम्मीद थी.

लड़की से गैंग रेप, मलकीत का गला रेता

नकदी न मिलने पांचों लड़की को छत पर ले गए और वहां उसके साथ गैंग रेप किया. मलकीत ने इस दौरान शुभम को पहचान लिया था, ऐसे में पुलिस के डर से शुभम ने बेहोश मलकीत का ब्लेड से गला रेतना शुरू कर दिया, इसके बाद उज्ज्वल किचन से चाकू लेकर आया और उसका गला रेत डाला.

ये किये गिरफ्तार

शुभम (23) पुत्र छत्रपाल निवासी लिस्ट्राबाद, रानीपोखरी, मूल निवासी बिजनौर

उज्जवल शर्मा (22) पुत्र सुभाष शर्मा ग्राम शिकोहपुर थाना बड़ौत, बागपत

अर्जुन चौधरी उर्फ चौहान (28) पुत्र बलवान सिंह निवासी झिंझोली थाना खरखौदा सोनीपत, हरियाणा

ये बदमाश फरार

अमन पुत्र धर्मेद्र निवासी श्यामपुर, ऋषिकेश मूल निवासी बड़ौत बागपत

लक्ष्य व मुकुल शर्मा निवासी नैनू नांगल बिजनौर

वारदात का मास्टरमाइंड इंजीनियर

इस पूरी वारदात का मास्टरमाइंड शुभम ने इंजीनिय¨रग का डिप्लोमा किया है. पूछताछ में उसने बताया कि वह नौकरी की तलाश में था, लेकिन नौकरी नहीं मिल रही थी. काम-धंधा न होने से खर्चा चलाना मुश्किल हो रहा था, ऐसे में उसने जब मलकीत के ठाठ-बाट देखे तो अपने दोस्तों को इकट्ठा किया और लूट की साजिश रची.

लड़की को मुंह खोलने पर जान की धमकी

मलकीत का गला रेतने के बाद बदमाशों ने लड़की का मोबाइल छीन लिया और उसे वारदात के बारें में किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी. बदहवाश हालत में लड़की पैदल ही लच्छीवाला की ओर निकल पड़ी. वापस लौटते समय अमन और अर्जुन ने उसे बाइक पर बैठकार लच्छीवाला रेलवे ओवरब्रिज के नीचे उतार दिया. उसे मोबाइल लौटाया और घर तक जाने के लिए सौ रुपये भी दिए. इसके बाद सभी वापस मामा-भांजा रेस्टोरेंट पहुंचे. यहां सभी रात भर रहे और 26 मार्च की सुबह अपने घरों को चले गए.

सीसीटीवी डीवीआर ले गए

लूट और गैंग रेप की वारदात को अंजाम देने से पहले बदमाशों ने मलकीत के घर लगे सीसीटीवी का वायर काट दिया था. कैमरे की डीवीआर भी बदमाश अपने साथ ले गए.

Posted By: Ravi Pal

inext-banner
inext-banner