'रॉयल स्टैग' चढ़ा तो बन गया 'काली'

नशे में आपत्तिजनक कमेंट्स से बिगड़ी बात, हुई किशोर की हत्या

दोस्त थे मृतक और आरोपी, एक दूसरे की जान लेने पर थे आमादा

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: नैनी एरिया के मड़ौका में किशोर की निर्मम हत्या के पीछे थी 'रॉयल स्टैग'. इसका सुरूर चढ़ने के बाद दो दोस्त में आपत्तिजनक कमेंट्स की हद पार हो गयी और दोनों एक-दूसरे के जान के प्यासे हो गये. कुश्ती के दांव में मात खाने पर वही बोतल हत्या में इस्तेमाल में लायी गयी जिसे दोनों ने मिलकर खाली किया था और नशे की हालत में इस मानसिक स्थिति में जा पहुंचे थे. सोमवार को नैनी पुलिस ने यह सनसनीखेज खुलासा किशोर राहुल पटेल की निर्मम हत्या करने के आरोपी कालीचरण को गिरफ्तार करने के बाद किया.

संडे मार्निग मिली थी लावारिश बॉडी

बता दें कि नैनी एरिया के मझिगवां मड़ौका गांव के रहने वाले राहुल पटेल की हत्या कर फेंकी गयी बॉडी रविवार की सुबह गांव के बाहर चकरोड के किनारे मिली थी. हत्या से गांव के पास ही परिवार के लोग सन्नाटे में आ गये थे. उसका गला कटा हुआ था. वह शनिवार की देर शाम घर से निकला था और इसके बाद बॉडी मिली थी. इस मामले में मृतक की मां कुसुम देवी की तरफ से अज्ञात हत्यारों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करायी गयी थी. बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेजने के बाद पुलिस हत्यारों का सुराग जुटाने में लगी थी. इसी दौरान पुलिस को यह महत्वपूर्ण सूचना मिली कि शाम को वह अपने दोस्त कालीचरण के साथ निकला था. इसके बाद पुलिस ने कालीचरण को ट्रैक करना शुरू कर दिया था. पुलिस ने जाल बिछाया और मझगवां चौराहे के पास से उसे पकड़ लिया. थाने लाकर कड़ाई से पूछताछ में कालीचरण टूट गया और सब कुछ पुलिस के सामने उगल गया.

साथ बैठकर दोनों ने पी थी शराब

एसएसपी आकाश कुलहरि ने सोमवार को आरोपी कालीचरण को पुलिस लाइंस में मीडिया के सामने पेश किया. उनके अनुसार पूछताछ में कालीचरण ने बताया कि घटना वाले दिन राहुल ने शराब पिलाने के लिए कहा था. उसके पास रायल स्टैग की आधा बोतल थी इसका दोनो ने सेवन किया. इसके बाद राहुल ने और मंगवाने को कहा तो उसने मना कर दिया. इसके बाद राहुल खुद पूरी बोतल लेकर आया और दोनो गांव से दूर निकल गये. स्पॉट पर दोनों ने बोतल खाली की. इस दौरान बातें करते करते परिवार तक पहुंच गये. एसएसपी के अनुसार कालीचरण ने बताया कि राहुल उसे मां-बहन की गालियां देने लगा तो उसने विरोध किया. इस पर उसने कुश्ती वाली स्टाइल में उसका गला दबोच लिया. इसके बाद काली ने भी पलटवार किया. इसी दौरान उसकी नजर खाली बोतल पर पड़ी तो उसने उसे पटककर तोड़ा और नुकीले हिस्से से राहुल के गले पर वार कर दिया. गर्दन कट जाने से राहुल चीख भी नहीं सका. इसके बाद बाद कालीचरण वहां से भाग निकला.

बाक्स

जमीन बिक्री के पैसों पर कर रहा था ऐश

एसएसपी आकाश कुलहरि ने बताया कि मृतक राहुल पटेल के पिता चन्दर पटेल की मौत हो चुकी है. उसको हिस्से में मिली जमीन का कुछ हिस्सा बेचा गया था. इससे राहुल के पास पैसे आ गये तो उसका मिजाज बदल गया था. महंगी बाइक और मोबाइल उसके दोस्तों को अखरने लगे थे. इसके चलते उससे ईष्र्या रखने वालों में आरोपी कालीचरण का भी नाम था. राहुल की लाइफ स्टाइल देखकर वह बैर रखता था. इसी के चलते नशे में होने के बाद राहुल ने मां-बहन की गालियां देनी शुरू की तो वह उससे उलझ गया. कुश्ती जैसे गुत्थम-गुत्था में वह पार नहीं पाया तो सीधे काली रूप में आ गया और बोतल तोड़कर राहुल की गर्दन काट डाली.

ये सामान देंगे गवाही

रॉयल स्टैग की बोतल के टुकड़े

खून और मिट्टी से सने रुमाल

स्पॉट पर फॉरेंसिक टीम को मिले मारपीट के निशान

मर्डर अकेले कालीचरण ने किया था. उसे गिरफ्तार किया जा चुका है. घटना का कारण नशे में हुआ विवाद है. आरोपी को जेल भेजा जा रहा है.

आकाश कुलहरि

एसएसपी, इलाहाबाद