-आईआईआईटी के एनुअल फेस्ट इफरवेसेन्स का रंगारंग समापन

-नेहा कक्कड़ ने डांस के साथ परफारमेंस से बांधा समा

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD (18 Oct): भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, इलाहाबाद के सांस्कृतिक तकनीकी एवं प्रबधन उत्सव-इफरवेसेन्स-2015 के अन्तिम दिन की शाम बालीबुड की प्रसिद्ध गायिक नेहा कक्कड़ के नाम रही. अंतिम दिन ज्यादातर प्रोग्राम इंटरटेनमेंट पर बेस्ड रहे और सभी में स्टूडेंट्स ने बढ़-बढ़कर हिस्सा लिया. अपनी प्रजेंटेशन से आडियंस के साथ जजेज को इंप्रेस किया.

कुंडी न खड़काओ राजा..

उन्होंने अपने रिमिक्स सुपरहिट गानों 'बरेली के बाजार में', ब्लू (थीम), हे रामा, टाइटल गीत 'ना आना इज देस लाडू' 'आओ राजा...', लंदन डुमका, मूवी कॉकटेल 'सेकेण्ड हैंड जवानी, एसआरके अंथेम, जादू की झप्पी तथा पार्टी गीत सुनी, सुनी सहित कई अन्य गीतों के जरिए खेल मैदान में उपस्थित युवाओं में जोश भर दिया. वर्ष 2008 के टेलीविजन रियल्टी शो 'इण्डियन आइडल-2' की विजेता रह चुकीं नेहा कक्कड़ ने प्रस्तुति के दौरान डांस परफारमेंस से आडियंस में इतना जोश भर कर दिया कि वे जहां-तहां थिरकते नजर आने लगे. पूरे समय हाल तालियों से गूंजता रहा. खूब ठुमके लगे. स्टूडेंट्स के साथ प्रोफेसर्स भी एंज्वॉय करते नजर आए.

चार दिनों तक चला आयोजन

नेहा कक्कड़ नाइट के साथ चार दिनी सांस्कृतिक तकनीकी एवं प्रबंधन उत्सव-इफरवेसेन्स-2015 का समापन हो गया. संडे को काग्नोसेन्टिया, बालीवुड तमबोला, टंग आफ वार, इन्टूजीजोन, फीदर्स, पानीपुडी जंक्शन, अर्म व्रेस्टिंग, क्रिकेट क्विज, लाइट कैमरा एक्शन, अनप्लग्ड इवेंट आयोजित किए गए. साहित्यिक क्लब द्वारा आयोजित प्रतिस्पर्धा काग्नोसेन्टिया में छात्रों ने साहित्य के प्रति ध्यान का प्रदर्शन किया. जिसमें 100 से अधिक छात्रों के प्रतिभागिता की. बालीबुड तमबोला में छात्रों ने मूवी सांग्स के जरिए छात्रों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया. क्रिकेट क्विज, अर्म वेस्टिंग में छात्रों ने अपने शक्ति का प्रदर्शन किया. अनप्लग्ड प्रतिस्पर्धा में तीन दिन तक चलने वाली प्रतिस्पर्धा मॉडल आफ यूनाइटेड नेशन और लाइट कैमरा ऐक्शन छात्रों ने उत्साहपूर्वक प्रतिभागिता की.

2000 से अधिक प्रतिभागी

इवेंट के दौरान कुल पांच दर्जन से अधिक प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया. इनमें 2000 से अधिक छात्रों ने अपने तकनीकी, प्रबंधन एवं सांस्कृतिक प्रतिभा का प्रदर्शन किया. इवेंट को सक्सेजफुल बनाने के लिए 17 कमेटियों का गठन किया गया था जो रात-दिन सफलता सुनिश्चित करने में लगी रहीं. लास्ट नाइट के मैनेजमेंट में सभी बेहद एक्टिव रहे.