काठमांडू (पीटीआई)। नेपाल ने होटल में खराब सुरक्षा प्रबंधन और प्रबंधकीय कमजोरी के कारण तीन महीने के लिए एक रिजॉर्ट के लाइसेंस को रद कर दिया है, जहां चार नाबालिगों सहित आठ भारतीय पर्यटकों की सांस से जुड़ी समस्या से मौत हो गई थी। बता दें कि केरल के 15 लोगों का एक समूह नेपाल घूमने के लिए गया था और यह घटना 21 जनवरी को मकवान जिले के पहाड़ी इलाके में स्थित एक रिजॉर्ट में हुई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, घटना के दौरान सभी 21 लोग होटल के एक रूम में थे, अचानक हीटर से गैस लीक हुआ और सभी बेहोश हो गए। इस घटना के बाद पर्यटकों को एचएएमएस अस्पताल ले जाया गया, जहां पहुंचने पर आठ लोगों को मृत घोषित कर दिया गया।

जांच रिपोर्ट के बाद हुई कार्रवाई
मकवानपुर पुलिस ने कहा कि पीड़ित सांस से जुड़ी परशानी के कारण बेहोश हो गए थे। पर्यटन विभाग ने रविवार को केरल के भारतीय पर्यटकों की मौत की जांच के लिए गठित एक जांच समिति द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट के आधार पर दमन स्थित एवरेस्ट पैनोरमा रिजॉर्ट को चलाने पर तीन महीने के लिए प्रतिबंध लगा दिया। विभाग ने रिजॉर्ट को बंद करने का फैसला इसलिए किया क्योंकि जांच समिति ने अपनी रिपोर्ट में साफ तौर पर यह बताया था कि घटना रिजॉर्ट में खराब सुरक्षा प्रबंधन और प्रबंधकीय कमजोरी के कारण हुई। संस्कृति, पर्यटन और नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने पर्यटन विभाग के निदेशक सुरेंद्र थापा के तहत जांच समिति का गठन किया था। बता दें कि इस घटना के बाद सरकार को पर्यटकों की संख्या में काफी कमी भी नजर आई है। यही कारण है कि इस तरह का ठोस कदम उठाया गया है।

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk