- मार्च माह तक निर्माण कराने की कवायद

- एसएसपी की पहल, फाइलों में आई तेजी

GORAKHPUR: शहर से लेकर देहात तक आग के तांडव ने निपटने के लिए उपाय खोजे जा रहे हैं. पूरे जिले में कहीं पर भी आग लगने पर आसपास के फायर स्टेशनों से मदद पहुंचाई जा सकेगी. जिले में तीन फायर स्टेशन बनाने के लिए एसएसपी ने पहल की है. मार्च माह तक तीनों फायर स्टेशन के अस्तित्व में आने के प्रयास शुरू हो गए हैं. एसएसपी ने कहा कि नए फायर स्टेशन को ऐसी जगह पर बनाया जाएगा जहां से चारों तरफ का एरिया कवर करने में कोई प्रॉब्लम न आए.

गोलघर से भेजी जाती थी गाडि़यां

जिले में कैंपियरगंज, चौरीचौरा और खजनी में नए फायर स्टेशन खोले जाने की तैयारी है. शहर के गोलघर स्थित फायर स्टेशन के अलावा बड़हलगंज और गीडा में फायर स्टेशन बनाए गए हैं. शहर के आसपास इलाकों में आग लगने पर गोलघर फायर स्टेशन से गाडि़यां पहुंचती हैं. ग्रामीण क्षेत्रों में कोई घटना होने पर शहर से वाहन पहुंचने में काफी विलंब हो जाता है. तीन नए फायर स्टेशन के लिए भूमि का चयन करके शासन को रिपोर्ट भेज दी गई है.

यहां होगा निर्माण कार्य

खजनी एरिया के पीडि़या

चौरीचौरा एरिया के देवीपुर

कैंपियरगंज के जंगल अगही

यह होगा फायदा

शहर से फायर ब्रिगेड को देहात में नहीं भेजना पड़ेगा.

समय से गाड़ी पहुंचने पर आग का नुकसान कम हो जाएगा.

बड़ी घटनाओं पर आसपास के सभी फायर स्टेशन से दमकल पहुंच जाएंगे.

गर्मी के मौसम में लगने वाली आग से निपटने में मदद मिलेगी.

सूचना मिलने पर फौरन सहायता मिल सकेगी. पब्लिक आक्रोशित नहीं होगी.

इतने फायर टेंडर मौजूद

गोलघर फायर स्टेशन 04

गीडा फायर स्टेशन 02

बांसगांव फायर स्टेशन 01

कैंपियरगंज फायर स्टेशन 01

बड़हलगंज फायर स्टेशन 01

फायर स्टेशन पर मौजूद संसाधन

फायर टेंडर - 10

वाटर बाउजर - 02

फोम टेंडर - 01

हाईड्रोलिक प्लेटफॉर्म - 01

मिस्ड हाईप्रेशर - 04

पोर्टेबल पंप - 04

बुलेट - 02

वर्जन

आग लगने की घटनाओं में नुकसान कम करने के लिए नए फायर स्टेशन की जरूरत है. फायर स्टेशन के लिए तीन जगहों पर भूमि मिल गई है. शासन से बजट आते ही निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा. सारी प्रक्रिया पूरी करके शासन को फाइल भेज दी गई है.

- शलभ माथुर, एसएसपी