prayagraj@inext.co.in
PRAYAGRAJ: इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में ओबीसी कैटेगरी के छात्रों को नया आशियाना देने की कवायद शुरू कर दी गई है. इसके लिए डीएसडब्ल्यू प्रो. हर्ष कुमार द्वारा बनाए गए प्रस्ताव को विवि के वीसी प्रो. आरएल हांगलू ने अपनी स्वीकृति दे दी है. प्रस्ताव के अनुसार ओबीसी कैटेगरी के छात्रों को हॉस्टल की सुविधा देने के लिए जमीन भी चिन्हित कर ली गई है. टेंडर आदि की औपचारिकता पूरी होने के बाद हॉस्टल निर्माण का कार्य एक-दो महीने में शुरू कराया जाएगा.

डायमंड जुबली के बगल में
ओबीसी कैटेगरी के छात्रों के लिए जो हॉस्टल बनाया जाएगा वह डायमंड जुबली हॉस्टल के अधीक्षक आवास के बगल में खाली पड़ी जमीन पर होगा. नए हॉस्टल में डबल सीटेड पचास रूम बनवाया जाएगा. इसमें ओबीसी कैटेगरी के सौ छात्रों को रूम दिए जाने की योजना बनाई गई है.

तीन अन्य हॉस्टल भी हो रहे तैयार
यूनिवर्सिटी में स्नातक एडमिशन के बाद लम्बे समय से नव प्रवेशी छात्रों को हॉस्टल की सुविधा दिए जाने की समस्या विकराल होती जा रही थी. इस समस्या का समाधान करने के लिए इस वक्त तीन नए हॉस्टल्स का निर्माण कार्य चल रहा है. इसमें एक चैथम लाइन के बगल में इंटरनेशनल हॉस्टल और दूसर ब्वॉयज हॉस्टल छात्रों के लिए बनवाया जा रहा है. वहीं तीसरा हॉस्टल छात्राओं के लिए है. यह महिला हॉस्टल परिसर में तैयार किया जा रहा है. अब एक और नए हॉस्टल के प्रस्ताव को मंजूरी मिलने के बाद हॉस्टल की समस्या काफी हद तक दूर होने की संभावना बन गई है.

अगले सेशन तक मिलेगा
यूनिवर्सिटी में तीन निर्माणाधीन और एक अन्य हॉस्टल को बनाने की स्वीकृति दिए जाने के बाद नए एकेडमिक सेशन में हॉस्टल की दिक्कत दूर हो जाएगी. डीएस डब्ल्यू प्रो. कुमार की मानें तो एक साल के भीतर सभी हॉस्टल तैयार हो जाएंगे.

यूनिवर्सिटी में आने वाले नव प्रवेशी छात्र-छात्राओं की समस्या को दूर करने के लिए तीन नए हॉस्टल का निर्माण कार्य चल रहा है. अब ओबीसी कैटेगरी के छात्रों के लिए सौ सीट का नया हॉस्टल बनाने का खाका खींचा गया है. इस प्रस्ताव को वीसी प्रो. आरएल हांगलू की स्वीकृति मिल चुकी है. जल्द ही आगे की प्रक्रिया पूरी कराई जाएगी.
-प्रो. हर्ष कुमार, डीएसडब्ल्यू इविवि

फैक्ट फाइल

18 है अभी तक कुल हॉस्टल की संख्या

04 हॉस्टल्स हैं इसमें ट्रस्ट के

4074 कुल सीटें ग‌र्ल्स-ब्वॉयज मिलाकर

35500 करीब है कुल छात्रों की संख्या