- चुने गए खिलाडि़यों को आठ साल तक ट्रेनिंग और स्कॉलरशिप मिलेगी

-बाद में खिलाडि़यों को इंटरनेशनल और नेशनल लेवल के कॉम्पटीशन में परफॉर्म करने का मिलेगा मौका

बरेली: अगर आपके बच्चे में टेलेंट है और उसे कहीं मौका नहीं मिल रहा तो परेशान होने की जरूरत नहीं है. क्योंकि केंद्र सरकार ने खेल और खिलाडि़यों को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय खेल प्रतिभा खोज-2019 यानि NSTSS की शुरूआत की है. इस योजना के तहत 8 साल से ज्यादा उम्र के खिलाड़ी अपना टेलेंट दिखाकर खेल की ट्रेनिंग के साथ ही पढ़ाई के लिए स्कॉलरशिप भी पा सकेंगे. ट्रेनिंग के बाद खिलाडि़यों को पहले लखनऊ स्थित नेशनल स्पो‌र्ट्स स्टेडियम में कॉम्पटीशन में मौका मिलेगा और बाद में इन्हीं खिलाडि़यों को नेशनल और इंटरनेशनल कॉम्पटीशन में भी मौका दिया जाएगा.

ऐसे करना होगा आवेदन

कोई भी प्लेयर जिसने कोई उपलब्धि हासिल की हो या फिर गेम्स की किसी भी प्रतियोगिता में अच्छा प्रदर्शन किया है. वे उसकी इनफॉमर्ेंशन और अपनी पर्सनल डिटेल https.//nationalsportstalenthunt.com पर अपलोड कर सकते हैं. साथ ही उसकी पिक्चर्स और वीडियो भी अपलोड कर सकते हैं. फोटो और डिटेल अपलोड करते ही उनका रजिस्ट्रेशन हो जाएगा. वेबसाइट पर करीब दो दर्जन से अधिक खेलों की लिस्ट है. जिसमें वे अपनी पसंद के हिसाब से किसी भी खेल को चुन सकते हैं. इसके बाद साई सेंटर उन खिलाडि़यों का टेस्ट लेगा. इसके क्वालीफाई करने वाले खिलाडि़यों की लिस्ट खेल निदेशालय को सौंपी जाएगी. फिर प्रतिभाशाली खिलाडि़यों को सुविधाएं मुहैया कराकर ट्रेनिंग दी जाएगी.

ट्रेनिंग के सेंटर कर सकते चूज

प्लेयर्स को पोर्टल पर स्पो‌र्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के सेंटर्स और अकादमियों के नाम और एड्रेस भी मिलेंगे. ट्रेनिंग के लिए इन सेंटर्स को खिलाड़ी अपनी सुविधा के अनुसार चूज कर सकते हैं. प्लेयर्स को चुने गए गेम ऑप्शन में ही ट्रेनिंग दी जाएगी.

दोबारा भी मिलेगा मौका

एनएसटीएसएस की वेबसाइट और पोर्टल अंग्रेजी और हिंदी के साथ सभी क्षेत्रीय भाषाओं में ऑनलाइन है ताकि किसी भी स्टेट के प्लेयर को प्रॉब्लम न हो. साथ ही किसी बच्चे का आवेदन यदि कैंसिल हो जाता है तो वह छह माह के बाद फिर आवेदन करने का मौका दिया जाएगा.

यह मिलेंगे फायदे

-प्लेयर्स को चुने गए गवर्नमेंट स्पो‌र्ट्स एकेडमी में ट्रेनिंग मिलेगी.

-ट्रेनिंग लेने वाले प्लेयर्स को हर साल 5 लाख रुपए स्कॉलरशिप मिलेगी.

-पूरे देशभर से 1000 बेस्ट प्लेयर्स को मिलेगा मौका.

-प्लेयर्स को 8 साल तक स्कॉलरशिप और ट्रेनिंग मिलेगी.

-योजना के बारे में पूरी जानकारी तो मिली है, लेकिन अभी पत्र आना बाकी हैं. यह योजना काफी अच्छी है. इससे प्लेयर्स को बहुत लाभ मिलेगा क्योंकि सरकार की तरफ से प्लेयर्स को प्रैक्टिस करने के साथ ही स्कॉलरशिप भी मिलेगी.

मिथलेश राना, इंचार्ज साई सेंटर बरेली