नई दिल्ली (पीटीआई)। बीजेपी और आम आदमी पार्टी ने गुरुवार को निर्भया कांड के दोषियों को फांसी देने में देरी को लेकर एक दूसरे पर जमकर आरोप लगाया, बीजेपी ने इसे लेकर दिल्ली सरकार को जिम्मेदार ठहराया, जबकि आम आदमी पार्टी ने अपने प्रतिद्वंद्वी पर लोगों को 'गुमराह' करने का आरोप लगाते हुए कहा, कानून और व्यवस्था केंद्र के हाथ में है। भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि सभी चार दोषियों को अब तक फांसी दे दी गई होती, अगर AAP सरकार ने तुरंत कार्रवाई करती। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान उन्होंने कहा, 'अगर उन्हें अभी तक फांसी नहीं दी गई है, तो इसकी वजह AAP सरकार की लापरवाही है...ढाई साल से अधिक की यह देरी दिल्ली की AAP सरकार की मिलीभगत के कारण है। इन दोषियों के साथ उन्होंने सहानुभूति दिखाई और यह देरी उसी का परिणाम है।'

Nirbhaya case: दिल्ली सरकार ने केंद्र को दोषी की दया याचिका खारिज करने की कही बात

आप ने बीजेपी को ठहराया जिम्मेदार

इसके जवाब में आप नेता संजय सिंह ने भी बीजेपी पर हमला बोला, उन्होंने कहा कि भाजपा नेता ने झूठ बोला है और असंवेदनशील टिप्पणी की है। उन्होंने मीडिया से कहा, 'जो भी देरी हो रही है, इसके लिए भाजपा जिम्मेदार है और इसलिए लोगों को गुमराह करने के बजाय, केंद्रीय मंत्री को इस तरह के संवेदनशील मामले को अनदेखा करने के लिए माफी मांगनी चाहिए।' उन्होंने आगे कहा कि कानून और व्यवस्था केंद्र के हाथ में है। जावड़ेकर ने कहा कि दिल्ली सरकार को कुछ ही दिनों के भीतर दोषियों को नोटिस देना चाहिए था। उन्होंने कहा कि न्याय अब तक दिया जा चुका होता। बता दें कि 23 वर्षीय महिला के साथ 16 दिसंबर 2012 को सामूहिक दुष्कर्म किया गया और उसे प्रताड़ित किया गया, जिससे उसकी मौत हो गई। सभी छह आरोपियों को गिरफ्तार किया गया और यौन उत्पीड़न व हत्या का आरोप लगाया गया। आरोपियों में से एक नाबालिग था और एक किशोर न्याय अदालत के सामने पेश हुआ, जबकि एक अन्य आरोपी ने तिहाड़ जेल में आत्महत्या कर ली। बाद में अदालत ने चार दोषियों को फांसी की सजा सुनाई लेकिन अब तक उन्हें फांसी नहीं दी जा सकी है।

Posted By: Mukul Kumar

National News inextlive from India News Desk