मुंबई (स्मिता श्रीवास्तव)। नितेश तिवारी की अगली फिल्म छिछोरे' में सुशांत सिंह राजपूत और श्रद्धा कपूर नजर आएंगे, फिल्म में कॉलेज के छात्रों की कहानी दिखाई जाएगी। नितेश के मुताबिक उन्हें लिखने में बहुत वक्त लगता है। जब तक वह पेपर पर अपने काम से संतुष्ट नहीं होते हैं, तब तक कलाकारों के पास नहीं जाते हैं। इसलिए दो साल या ढाई साल में एक फिल्म बना पाते हैं।

इसलिए रखा फिल्म का नाम छिछोरे
ये छिछोरापन है सकारात्मक फिल्म का नाम 'छिछोरे' है। क्या उसके कंटेंट में भी वैसा ही कुछ नजर आएगा? इस सवाल पर नितेश कहते हैं, 'यह छिछोरापन सकारात्मक अंदाज में है। हमने फिल्म का शीर्षक 'छिछोरे' रखा क्योंकि फिल्म का बड़ा हिस्सा हॉस्टल के जीवन और छात्रों की दोस्ती पर आधारित है। मैं चार साल इंजीनियरिंग कॉलेज के हॉस्टल में रहा हूं। वहां की जिंदगी को करीब से देखा है। हॉस्टल की लाइफ बेफिक्र और मस्तीभरी होती है। हर इंसान के अंदर एक छोटा सा छिछोरा जाग ही जाता है। इसलिए फिल्म का शीर्षक 'छिछोरे' रखा गया है। ये प्यारे छिछोरे हैं। उनमें कुछ भी नकारात्मकता नहीं है।

फिल्म की कहानी
फिल्म की कहानी दो हिस्सों में बंटी हुई है। एक हिस्सा वर्ष 1992 का है, जबकि दूसरा हिस्सा 2019 का। वही किरदार हैं, वक्त बस अलग है। किरदार कॉलेज के दिनों में भी शरारती थे और बाद में भी उनमें वही शरारत दिखती है। उनकी जिंदगी के वाकयों को सार्थकता के साथ दिखाने का प्रयास किया है। मनोरंजन देने के साथ ही फिल्म अहम मुद्दे पर बात करती है। 'सबसे बड़ी चुनौतीकॉलेज लाइफ और दोस्ती पर कई फिल्में बनी हैं। मसलन 'मुन्नाभाई एमबीबीएस', 'थ्री इडियट्स'। 'छिछोरे' को लेकर नितेश का मानना है कि दोस्ती, रिलेशनशिप, बचपन पर आधारित हर फिल्म के अपने चैलेंजेस होते हैं। फिल्म का आइडिया दिलचस्प है। इसलिए इस बात से फर्क नहींपड़ता कि यह विषय नया नहीं हैं। मैंने जो जिंदगी जी है, उसका केवल अनुभव किया जा सकता है। इंजीनियरिंग कॉलेज की पढ़ाई के दौरान मैंने कई रचनात्मक दिमाग देखे हैं, जो पढ़ाई में बहुत अच्छे थे लेकिन जिस तरह से उनके दिमाग प्रैंक्स में चलते थे, वह भी बहुत अलग था।
 
फिल्म में आठ किरदार
इस फिल्म की कहानी को लिखने में काफी वक्त लगा। फिल्म में आठ किरदार हैं, उम्रदराज किरदार भी वही थे। ऐसे में मेरे लिए वह 16 किरदार थे। कई किरदारों एक वक्त के अंदर मैनेज करना था। हर किरदार के साथ न्याय भी करना था। एक ऐसी कहानी कहनी थी, जो दर्शकों को बांधे रख सके। वह चुनौतीपूर्ण था।' दिलचस्प निकनेमफिल्म में किरदारों के नाम सेक्सा, एसिड रखे गए हैं। ये नाम उनके कॉलेज के दोस्तों के उपनाम थे। उसके बारे में नितेश विस्तार से बताते हैं, 'एसिड वास्तविक नाम नहीं था उस इंसान का। ज्यादातर किरदार विभिन्न लोगों का मिश्रण हैं, जिन्हें मिलाकर मैंने बनाया है। ये उन दोस्तों को रिप्रेजेंट करते हैं, जो हर फ्रेंड सर्कल में होते हैं। सेक्सा, डैरेक मेरे सीनियर थे। रैगी मेरे प्रतिद्वंदी हॉस्टल का दोस्त था। मम्मी नाम का लड़का था। ये उसका वास्तविक नाम नहीं, बल्कि निकनेम था, जो उसे परिभाषित करता था। कई बच्चे जो हॉस्टल आते हैं, वो होम सिक होते हैं। अपने घर को मिस करते हैं। उन्हें मम्मी की याद आती है। इसलिए उनका निक नाम मम्मी रख दिया जाता था। एसिड ऐसे लोगों का नाम रखा जाता है जो टॉपर्स होते हैं, लेकिन जब कठिन कॉम्पटिशन में उतरते हैं, जिसमें सभी टॉपर्स होते हैं, तो वह एकेडिमक प्रेशर झेल नहीं पाते हैं। एसिड उस तरह का इंसान होता है, जिसके अंदर एसिड भरा होता है। कई ऐसे लोग हॉस्टल में होते हैं, जिन्हें शराब पीने की आदत होती है, उनका नाम बेवड़ा रख देते हैं। ये वास्तविक किरदार हैं, इसलिए उनके साथ जुड़ना आसान हो जाएगा। ऐसे किरदार उन किरदारों की याद दिलाएंगे जिन्हें आप भी जानते होंगे। माया मेरी बैचमेट थी। हालांकि फिल्म में श्रद्धा कपूर माया को रेप्रेजेंट नहीं करती हैं।'

लुक को लेकर मेहनत
ट्रेलर में 1992 में सारे किरदार युवा दिख रहे हैं। जबकि 2019 में उनकी उम्र बढ़ी हुई है। उनके लुक के बारे में नितेश बताते हैं, 'हर किसी में उत्सुकता होती है यह जानने की कि जब वे बूढ़े होंगे तो कैसे लगेंगे। हर कोई भविष्य जानना चाहता है। फेस एप को लेकर भी लोगों की प्रतिक्रिया से यही जाहिर हुआ। फिल्म के कलाकारों का भी यही रिएक्शन था। हमने सबको अलग लुक देने की कोशिश की है। श्रद्धा के लुक के लिए हमें चालीस साल की कई महिलाओं पर स्टडी करनी पड़ी। दरअसल साठ साल में झुर्रियां और सफेद बाल दिखाना आसान है। महिलाएं अपने 40वें साल में उतनी ही सुंदर लगती है, जितनी 30 साल की उम्र में लगती हैं। वह मुश्किल था दिखाना। पुरुषों को सफेद दाढ़ी और गंजा बनाया जा सकता है। बहरहाल किरदारों की मस्ती के साथ ही हमने सकारात्मक संदेश को फिल्म में पिरोया है। जिसमें हमें कलाकारों का पूरा साथ मिला है।'

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk