कांवड़ यात्रा के मद्देनजर ट्रैफिक डायवर्जन प्लान जारी

17 जुलाई से 30 जुलाई तक लागू करने ट्रैफिक प्लान

एसपी ट्रैफिक के निर्देशन में तैयार किया गया है ट्रैफिक प्लान

Meerut. 17 जुलाई से मेरठ में कांवड़ यात्रा आरंभ हो जाएगी. 30 जुलाई, श्रावण शिवरात्रि तक चलने वाली इस यात्रा के मद्देनजर एक ओर जहां पुलिस-प्रशासन ने सुरक्षा और व्यवस्था को सुनिश्चित कर लिया है तो वहीं ट्रैफिक पुलिस के निर्देशन मे ट्रैफिक डायवर्जन स्कीम को जारी कर दिया गया है. एसपी ट्रैफिक संजीव बाजपेयी के निर्देशन में ट्रैफिक डायवर्जन स्कीम यात्रा के दौरान प्रभावी रहेगी.

करोड़ों श्रद्धालु गुजरेंगे

मेरठ से दिल्ली, एनसीआर, हरियाणा, राजस्थान समेत विभिन्न राज्यों से करोड़ों की संख्या में कांवडि़ए गंतव्य की ओर जाते हैं, वहीं बागपत के पुरा महादेव मंदिर में जलाभिषेक के लिए लाखों की संख्या में कांवडि़यों को हुजूम मेरठ सीमा से गुजरता है. मेरठ स्थित औद्यड़नाथ मंदिर में शिवरात्रि के दिन लाखों की संख्या में कांवड़ यात्री जलाभिषेक करेंगे. मेरठ जनपद की 45 किमी सीमा में 17 से लेकर 30 जुलाई तक हर सड़क पर कांविड़ए ही कांवडि़ए नजर आते हैं. मेरठ स्थित कांवड़ यात्रियों के आवागमन को सुगम बनाने के लिए ट्रैफिक डायवर्जन प्लान 18 जुलाई से लागू किया जाएगा.

डायवर्जन स्कीम

18 जुलाई सुबह 8 बजे से मेरठ में यातायात डायवर्जन स्कीम लागू हो जाएगी. यह डायवर्जन स्कीम 31 जुलाई शाम 6 बजे तक लागू रहेगी.

दिल्ली-गाजियबाद की ओर से आने वाला भारी ट्रैफिक जिन्हें मुजफ्फनगर, सहारनपुर, हरिद्वार, देहरादून और बिजनौर जाना है वो गाजियाबाद से हापुड़ होकर साईलो सेकेंड से किठौर रोड होकर मीरापुर-जानसठ से मुजफ्फनगर की ओर जा सकेंगे. जिन वाहनों को हरिद्वार और देहरादून जाना है वे मीरापुर से गंगा बैराज, बिजनौर, नजीबाबाद होकर हरिद्वार और देहरादून की ओर जाएंगे. हापुड़ से टै्रफिक को मेरठ की ओर नहीं आने दिया जाएगा.

देहरादून, हरिद्वार, मुजफ्फनगर और बिजनौर से दिल्ली, गाजियाबाद, बुलंदशहर जाने वाला हैवी ट्रैफिक मीरापुर से मवाना-बहसूमा होते हुए किला परीक्षितगढ़ की ओर डायवर्ट किया जाएगा. मेरठ की ओर आने वाले भारी वाहन को मवाना से मेरठ आने दिया जाएगा.

देहरादून, हरिद्वार, बिजनौर, मुजफ्फनगर की ओर से आने वाली रोडवेज बसें मवाना होते हुए मेरठ के सोहराबगेट बस अड्डा पहुंचेगी और वापसी में तेजगढ़ी चौराहे से मेडिकल होते हुए किठौर से हापुड़ होते हुए दिल्ली, गाजियाबाद, हापुड़ और बुलंदशहर की ओर जा सकेंगी.

मुरादाबाद-गढ़मुक्तेश्वर की ओर जाने वाले भारी वाहन जिन्हें हरिद्वार-देहरादून जाना है वे किला परीक्षितगढ़ से डायवर्ट किए जांएगे. मीरापुर, नजीबाबाद होते हुए वे गंतव्य तक पहुंचेंगे. जबकि देहरादून से मुरादाबाद की ओर जाने वाला हैवी ट्रैफिक मवाना और किला परीक्षितगढ़ से होकर निकलेगा.

देहरादून-हरिद्वार से मुरादाबाद की ओर जाने वाली रोडवेज बसें पहले मीरापुर, मवाना होते हुए जेलचुंगी से होते हुए गढ़मुक्तेश्वर-मुरादाबाद के लिए निकलेंगी. और इसी रूट से बसें मुरादाबाद से वापस हरिद्वार पहुंचेंगी.

बरेली-मुरादाबाद की ओर आने वाला टै्रफिक जिसे शामली, बागपत, हरियाणा की ओर जाना है वो स्याना चौपला (गढमुक्तेश्वर) से पिलखुवा, डासना होते हुए दिल्ली लोनी बार्डर से गंतव्य तक पहुंचेंगे. इसी रास्ते यह वाहन वापस लौटेंगे.

दिल्ली-गाजियाबाद आने वाला ट्रैफिक यदि चूक से मेरठ की ओर आता है तो उसे मोहउद्दीनपुर तिराहे से खरखौदा रोड होते हुए हापुड़ जाने वाले मार्ग पर भेज दिया जाएगा.

रोडवेज बसों की व्यवस्था

19 जुलाई को सुबह 8 बजे से 31 जुलाई रात्रि 12 बजे तक भैंसाली बस अड्डा बंद रहेगा. दिल्ली मार्ग पर चलने वाली रोडवेज बसें सोहराबगेट से गुजरेंगी. गांधीआश्रम चौराहे से आगे हापुड़ स्टैंड की ओर भी किसी वाहन को जाने नहीं दिय जाएगा.

बागपत रूट पर चलने वाली रोडवेज बसें 19 जुलाई से भैंसाली बस अड्डे के बजाय बागपत बाईपास से चलेंगी. यह बसें शहर में प्रवेश नहीं करेंगी.

बड़ौत मार्ग पर चलने वाली रोडवेज बसें 19 जुलाई से रोहटा रोड बाईपास से चलेगी और शहर के अंदर प्रवेश नहीं करेंगी.

प्राइवेट बसों के लिए

मवाना, हस्तिनापुर के लिए चलने वाली प्राइवेट बसें पुलिस चौकी गंगानगर से चलेगी.

किला परीक्षितगढ़ रोड पर चलने वाली बसें यादगारपुर बसंत विहार से किला रोड के लिए चलेंगी.

हापुड रोड पर बुलंदशहर के लिए चलने वाली बसें एल ब्लाक पुलिस चौकी से चलेंगी.

सरधना और शामली के लिए चलने वाली बसें कंकरखेड़ा फ्लाईओवर से चलेंगी.

अंबाला बस स्टैंड बेगमपुल से चलने वाली बसें गंगानगर पुलिस चौकी पर बनाए गए अस्थायी बस स्टैंड से चलेंगी.

सिटी बसों के लिए

शहर क्षेत्र में सिटी स्टेशन, कैंट स्टेशन एवं अन्य सभी मार्गो पर चलने वाली सिटी बसों के संचालन पर 19 जुलाई से 31 जुलाई तक प्रतिबंध रहेगा.

आवश्यक वस्तु वाहनों की व्यवस्था

5 जुलाई सुबह 8 बजे से शहर क्षेत्र में सभी प्रकार के भारी वाहनों का आवागमन प्रतिबंधित होगा. आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई के लिए 25 जुलाई से पहले ही स्टाक कर लिया जाए जिससे आवश्यक वस्तुओं की कमी न हो.

दूध, ब्रेड और सब्जी के लिए छोटे वाहनों का संचालन होगा, जिसके लिए ट्रैफिक पुलिस कार्यालय से पहले पास जारी कराना होगा.

25 जुलाई से शहर की सभी सड़कों पर ऑटो, टैंपो, जीप और चार पहिया वाहनों का आवागमन प्रतिबंधित रहेगा. सिर्फ कांवड़ स्टीकर और निजी वाहन की कांवडियों के लिए निर्धारित मार्ग को छोड़कर विपरीत दिशा वाले मार्ग पर चल सकते हैं.