पटना में मैरिज हॉलों पर सुरक्षा इंतजाम नाकाफी, बुक करा रहे हैं तो जांच लें सेफ्टी के नॉ‌र्म्स

PATNA(7Nov)

पटना में शादियों के लिए अगर आप मैरिज गार्डन और बैंक्वेट हॉल बुक कर रहे हैं तो सावधानी बरतें। पटना के अधिकांश मैरिज गार्डन या बैंक्वेट हॉल में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम ही नहीं है। हालात यह है कि अधिकांश संचालकों की ओर से सिर्फ सजावट पर ध्यान दिया जा रहा है और सुरक्षा इंतजामों को दरकिनार किया जा रहा है। दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने जब इस मामले की जांच की तो चौंकाने वाली जानकारी मिली कि अधिकांश मैरिज गार्डन या बैंक्वेट हॉल के पास अग्निशमन संबंधी पूरी व्यवस्था ही नहीं है। अधिकांश के पास फायर एनओसी ही नहीं है। मैरिज गार्डन बुक कराने से पहले मैरिज लॉन, बैंक्विट हॉल और मैरिज गार्डन की फायर एनओसी जरुर चेक कर लें। अगर आपने ऐसा नहीं किया तो हो सकता है जिस बैंक्विट हॉल को आपने बुक किया है और उसके पास एनओसी नहीं है तो आपकी समारोह में खलल पड़ सकता है।

शुरू हो गया शादियों का सीजन

पटना में देवोत्थान एकादशी यानी शुक्रवार से शादियों का सीजन शुरू हो रहा है जो अगले कई दिनों तक रहेगा। इस तरह में शादियों के सीजन में हजारों शादियां होंगी। अगर आपके यहां भी शादी है तो आप ऐसे में बैंक्वेट हॉल या मैरिज गार्डेन बुक करते समय सुरक्षा मानकों की जांच जरूर कर लें।

सुरक्षा नहीं सिर्फ डोकोरेशन पर रहता है फोकस

पटना के बैंक्वेट हॉल और मैरिज गार्डन संचालक सिर्फ डेकोरेशन पर फोकस करते है लेकिन सुरक्षा व्यवस्थाओं की अनदेखी करते हैं। जिसके चलते कई बार हादसे भी हो चुके हैं। जब भी कोई हादसा होता है तो उस समय आदेश निकाला जाता है लेकिन बाद में उस आदेश पर कोई अमल ही नहीं होता है। इस कारण बेखौफ होकर शहर के बैंक्वेट हॉल के संचालक आम लोगों की जिंदगी को खतरे में डालकर नियमों की धज्जि्यां उड़ा रहे हैं।

80 फीसदी के पास नहीं होता फायर एनओसी

शहर में एक हजार से अधिक मैरिज गार्डन और बैंक्वेट हॉल हैं। दैनिक जागरण आई नेक्स्ट के पड़ताल में ये पता चला कि राजधानी में करीब 10 फीसदी बैंक्वेट हॉल अवैध है। इनमे भी खास बात ये है कि 80 फीसदी के पास फायर एनओसी नहीं है। नगर निगम का सर्वे ना होने की वजह से निगम ना तो प्रॉपर्टी तलाश कर पा रहा है और नहीं पहले से रजिस्टर्ड मैरिज गार्डन से फायर एनओसी के रूप में शुल्क वसूल कर पा रहा है।

बैंक्वेट हॉल के लिए अब तक नहीं बना नियम

शहर में बिना फायर एनओसी के चल रहे बैंक्वेट हॉल के मामले में जांच के दौरान चौंकाने वाली बात सामने आई। हैरानी की बात ये है कि फायर विभाग द्वारा फायर एनओसी को लेकर अब तक कोई नियम ही नहीं बना है। फायर एसोसिएशन के सदस्य सुरेंद्र कुमार बताते हैं कि अब तक नियम ही नहीं बना है। इस कारण कोई कार्रवाई नहीं होती है। उन्होंने बताया कि शासन को नियम बनाने के लिए प्रस्ताव बनाया गया है। प्रस्ताव जब विधान सभा से पास हो तब ये कानून का शक्ल लेगा और फिर इनके खिलाफ फायर विभाग कार्रवाई कर सकती है।

हो चुकी हैं घटनाएं

फुलवारीशरीफ स्थित बैंक्वेट हॉल में 26 अगस्त 2019 की देर रात पावर प्लग बॉक्स में शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। इससे अफरातफरी मच गई। हॉल के कर्मियों ने दमकल आने से पहले ही आग पर काबू पा लिया। इस हादसे में अधिक नुकसान नहीं हुआ। आग बुझाने में ज्यादा देर होती तो बड़ा हादसा हो सकता था।

यह सही है कि पटना में कई बैंक्वेट हॉल और मैरिज गार्डेन के पास फायर एनओसी नहीं है। यह एक गंभीर मामला है। आपलोगों के माध्यम से जानकारी मिली है। मैं जांच करवाकर आदेश निकलवाता हूं और इसे आवश्यक करवाता हूं।

अनिरूद्ध प्रसाद, कमांडेंट, फायर पटना

मैरिज गार्डेन और बैंक्वेट हॉल में सुरक्षा के पूरे इंतजाम होने चाहिए। मैं इस बारे में नगर आयुक्त को लिखकर कार्रवाई के लिए कहूंगा।

कुमार रवि, डीएम पटना

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner