क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : रिम्स का रेडियोलॉजी डिपार्टमेंट मरीजों के लिए फिर परेशानी का सबब बना हुआ है. लेकिन, इस बार समस्या मशीन के खराब होने के कारण नहीं पैदा हुई है, बल्कि एमसीआई द्वारा रेडियोलॉजी डिपार्टमेंट की मान्यता रद करने से जुड़ा है. गुरुवार को जैसे ही रेडियोलॉजी के स्टूडेंट्स को इसकी जानकारी मिली, उन्होंने यहां सभी तरह की जांच को ठप करा दिया. घंटों इंतजार के बाद भी मरीजों का अल्ट्रासाउंड नहीं हो सका. हालांकि, काफी मशक्कत के बाद कुछ मरीजों का एमआरआई और सिटी स्कैन संभव हो सका. इतना ही नहीं, यहां होने वाले तमाम जांच पर भी इसका असर देखने को मिला.

डायरेक्टर से की मुलाकात

रेडियोलॉजी डिपार्टमेंट की मान्यता रद किए जाने की जानकारी मिलने के बाद मेडिकोज व सीनियर डॉक्टर्स ने रिम्स के डायरेक्टर से मुलाकात कर इस मामले से अवगत कराया. डायरेक्टर के साथ उनकी घंटों वार्ता हुई. ऐसे में यहां होने वाले मरीजों की जांच व टेस्ट पर इसका असर देखने को मिला.

तीन दिन से लगा रहे चक्कर, नहीं हो रहा अल्ट्रासाउंड

रिम्स में अल्ट्रासाउंड कराने वाले मरीजों की संख्या में काफी इजाफा हो गया है. ऐसे में टेस्ट के लिए तारीख दी जा रही है. कुछ मरीजों ने बताया कि उन्हें तीन दिन बाद का नंबर मिला था, लेकिन जब आए तो अल्ट्रासाउंड नहीं हो सका. ऐसे में इलाज में भी इसका असर पड़ रहा है.

ऐसी कोई जानकारी मुझे नहीं है. कोई लेटर भी नहीं मिला है. जबतक मामला स्पष्ट न हो, कुछ कह पाना मुश्किल है. इस मामले के बारे में जानकारी ले रहा हूं.

डॉ आरके श्रीवास्तव

डायरेक्टर, रिम्स