लखनऊ/नई दिल्ली (एएनआई)। स्कूल में पढ़ रहे बच्चों के पैरेंट्स के लिए राहत की खबर आई है। रविवार को लखनऊ जिला प्रशासन ने घोषणा की कि लॉकडाउन के दौरान कोई भी स्कूल किसी को भी फीस के लिए मजबूर नहीं करेगा। लखनऊ के डीएम अभिषेक प्रकाश ने कहा, 'लखनऊ में कोई भी निजी स्कूल अप्रैल में फीस जमा नहीं करवा सकता है।' प्रशासन ने सभी स्कूलों को सख्त निर्देश दिए हैं कि अप्रैल, मई और जून के महीने की फीस जमा नहीं की जानी चाहिए। यही नहीं लॉकडाउन के दौरान फीस न जमा होने के चलते स्कूल किसी भी बच्चे को ऑनलाइन पढ़ार्द से भी नहीं रोक सकते। डीएम प्रकाश ने आगे कहा, 'कोई भी बच्चा ऑनलाइन शिक्षा और स्कूलों से नहीं रोका जा सकता है। स्कूल तीन महीने बाद फीस को एडजेस्ट कर सकते हैं।'

गाजियाबाद डीएम को भी आदेश

केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने रविवार को गाजियाबाद के जिलाधिकारी (डीएम) अजय शंकर पांडे से स्कूलों की फीस माफ करने के लिए कहा है। सिंह ने कहा, 'डीएम गाजियाबाद (अजय शंकर पांडे) से कहा है कि वे अपनी शक्तियों का प्रयोग करें और कोविड ​​-19 प्रभावित अवधि के लिए शैक्षणिक संस्थानों से फीस माफ करने के लिए कहे।'

77 लोगों की हो चुकी मौत

भारत में कोरोना वायरस का खतरा बढ़ता जा रहा है। रविवार को कुल मामलों की संख्या बढ़कर 3,374 हो गई। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा प्रदान किया गया डेटा के अनुसार, 3030 सक्रिय मामले हैं, 266 ठीक हो गए हैं या छुट्टी दे दी गई। जबकि देश में अब तक 77 लोगों की मौतें हो चुकी हैं।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

National News inextlive from India News Desk

inext-banner
inext-banner