- ऐरा मेडिकल कॉलेज की पार्किग में खड़ी मिली चोरी की 3 लग्जरी गाडि़यां

- एक फा‌र्च्यूनर का सौदा कर दिया गैंग लीडर ने

- गैंग के मेंबर में एक प्रतिष्ठित स्कूल में पढ़ने वाला 11वीं का छात्र भी शामिल

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW : लखनऊ ही नहीं यूपी में पहली बार अपने आप में अनोखी कार चोरी के मामले में पुलिस ने तीन और लग्जरी गाड़ी बरामद कर गैंग के एक सदस्य को दबोच लिया है. गैंग ने महानगर के बादशाहनगर स्थित कनक कार बाजार से 8 लग्जरी गाडि़यों पर हाथ साफ किया था. महानगर पुलिस पहले ही चार गाडि़यों को बरामद कर चुकी है. गैंग का मास्टरमाइंड और एक आरोपी अभी फरार है. वहीं चोरी की 8वीं लग्जरी फाच्र्यूनर गाड़ी का मास्टरमाइंड ने सौदा कर दिया है. पूछताछ में दबोचे गये आरोपी ने बताया कि कार बाजार से 8 नहीं बल्कि वहां 17 गाडि़यां चुराने का प्लान था.

तीसरे चक्कर में उठानी थी और गाडि़यां

महानगर के बादशाहनगर मेट्रो स्टेशन के सामने कनक कार बाजार से मंगलेश गोस्वामी गैंग ने दो चक्कर में 8 लग्जरी गाडि़यां चुराई थी. शुक्रवार को पुलिस ने गैंग के तीसरे सदस्य फैज को गिरफ्तार किया है. उसने बताया कि मंगलेश कार बाजार में खड़ी सभी 17 गाडि़यों को चुराना चाहता था, लेकिन साथियों ने उसे ऐसा करने से रोक दिया. उनका कहना था कि सभी गाडि़यों को चुराने और उन्हें ठिकाने लगाने के साथ बेचने में भी मुसीबत खड़ी हो सकती है. मंगलेश के कई बार कहने के बाद भी साथियों ने तीसरे चक्कर में और गाड़ी चुराने से इंकार कर दिया था.

कनक कार बाजर में की थी रेकी

एसपी टीजी राजेश श्रीवास्तव ने बताया कि मंगलेश के साथ उसका साथी गिरिजा, फैज उर्फ जुरावर उर्फ मोनू, रामजी और दीपक चौरसिया ने वारदात को अंजाम दिया था. कुछ दिन पहले मंगलेश और फैज पुरानी गाड़ी खरीदने की बात कहकर कनक कार बाजार गए थे और वहां अंदर से लेकर बाहर तक रेकी की थी. उनके ऑफिस में काफी देर तक बैठे और वहां लगे कैमरे व डीबीआर के बारे में पूरी जानकारी भी की थी.

तीन लोग फांद कर अंदर पहुंचे थे

सीओ क्राइम दीपक सिंह ने बताया कि घटना के बाद आस-पास लगे कई सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखी गई. एक फुटेज में तीन लोग कनक कार बाजार के गेट के पास दाखिल होते देखे गए. एक ने लोहे की राड से ताला तोड़ा जबकि एक पीछे के रास्ते से दीवार फांद कर अंदर दाखिल हुआ था. इसके बाद पांचों अंदर पहुंचे और अलमारी में रखी गाडि़यों की चाबी निकाली और एक-एक गाड़ी लेकर चलते बने. कुछ देर बाद दूसरा चक्कर भी आए और फिर चार गाडि़यां उठा ले गए.

एरा मेडिकल कॉलेज में पार्क की थी गाड़ी

सीओ महानगर सोनम कुमार ने बताया कि कार बाजार से चोरी की पहली खेप में चारों लग्जरी गाड़ी लेकर गैंग के सदस्य केजीएमयू हॉस्पिटल पहुंचे जहां एक गाड़ी को शताब्दी पार्किग और बाकी तीन गाडि़यों को अलग-अलग डिपार्टमेंट के बाहर खड़ी कर दी. दूसरे चक्कर में चुराई गई चारों गाडि़यों को वह केजीएमयू लेकर आए, लेकिन वहां से वह उन गाडि़यों को एरा मेडिकल कॉलेज लेकर चले गए. वहां पार्किग में गाडि़यां खड़ी कर दी. मंगलेश और फैज ठाकुरगंज एरिया में रहते हैं, जिसके चलते उन लोगों ने एरा मेडिकल कॉलेज की पार्किग के बारे में पूरी जानकारी कर रखी थी.

यह गाड़ी हुई बरादम

टोयटा इनोवा क्रिस्टा- यूपी 32 एचसी 8485

टोयटा इनोवा क्रिस्टा- यूपी 32 एचपी 1400

हुंडई आई-20 - यूपी 32 जेवाई 0400

यह है लापता

टोयटा फार्रच्यूनर यूपी 78 ईटी 0066

क्या-क्या हुआ बरामद

एक मोबाइल फोन मय सिम कार्ड

दो पिस्टल का अपरुप (नकली)

9 अदद चाभियां चार पहिया वाहन

4 अदद चाभियां दो पहिया वाहन

3 अदद भिन्न भिन्न नंबर प्लेट

कहां कहां कर चुके कार चोरी की वारदात

मडि़यांव के भिठौली तिराहा होंडा शोरूम से

पॉलीटेक्निक चौराहा से स्टालिन होंडा शोरूम से

शहीद पथ के पास विभूतिखंड एरिया से

-बलरामपुर हॉस्पिटल से

- जानेश्वर मिश्र पार्क के पास से

मास्टर माइंड कर कर दिया सौदा

गैंग के सदस्यों ने सभी गाड़ी ठिकाने लगा दी, लेकिन मास्टरमाइंड मंगलेश और उसका साथी गिरिजा एक फाच्र्यूनर (यूपी 78 ईटी 0066) लेकर चला गया. पकड़े गए साथियों के अनुसार मंगलेश ने उसका सौदा भी एक ही रात में कर लिया था और उसे बेच दिया. मंगलेश और गिरिजा मौके से फरार हो गए. पकड़ा गया आरोपी फैज एक प्रतिष्ठित स्कूल में 11वीं का छात्र है.

Posted By: Inextlive