-विदेशी भाषा सीखते ही 25 फीसदी तक बढ़ जाते हैं करियर ऑप्शन

PATNA: आमतौर पर आज के युवाओं का झुकाव प्रोफेशनल्स कोर्स की तरफ ज्यादा रहता है. वे यह समझते हैं कि ऐसे कोर्सेस में करियर बनाकर तेजी से विकास कर सकते हैं. लेकिन इस मिथक को दूर करने के लिए आज हम ऐसे कोर्सेस की चर्चा करेंगे जिसकी मांग बढ़ रही है, यह काफी दिलचस्प भी है और फ्यूचर में इसके अच्छे रिजल्ट भी मिल सकते हैं. आज के बदलते दौर में विदेशी भाषाएं खासकर जर्मन और फ्रेंच में करियर की काफी संभावनाएं हैं.

विदेशी कंपनियां दे रहीं अवसर

विदेशी भाषाओं में करियर बनाने, आगे बढ़ने और विदेशों में कार्य करने के प्रति इच्छा रखने वाले युवाओं को कम से कम एक विदेशी भाषा सीखना जरूरी है. विदेशी कंपनियां अब जर्मन और फे्रंच को ज्यादा महत्व देने लगी हैं, वैसे युवाओं को ज्यादा पसंद किया जाता है जिन्हें विदेशी भाषाओं की जानकारी है, उसे समझते हैं और बोलने में सक्षम हैं. इसलिए आज यंग पटनाइट्स न सिर्फ नए कपड़े या नए टेक्नोलॉजी के दीवाने हैं, बल्कि अब उनमें जर्मन और फ्रेंच जैसी विदेशी भाषाएं सीखने का क्रेज भी बढ़ रहा है.

जरूरी है भाषाओं का ज्ञान

युवा अपनी मातृभाषा के अलावा विदेशी भाषा भी जानते हैं तो उनके लिए विदेशों में करियर बनाने और कार्य करने के लिए बेहतर अवसर मिलते हैं. ऐसे युवाओं के करियर में ऑप्शन 5 से 25 परसेंट तक बढ़ जाते हैं. विदेशी भाषा की जानकारी होने से विदेशी कंपनियों से अच्छे ऑफर मिलते हैं और जल्द ही विदेशों में नौकरी भी मिल जाती है. इसलिए लीक से हटकर चलने वाले युवाओं के लिए यह काफी लाभदायक है. इतना ही नहीं, कई बार देखा गया है कि कुछ युवा मनोरंजन के लिए भी विदेशी भाषाएं सीखते हैं और वहां के साहित्य, संगीत और कलाओं से अवगत होते हैं.

20 परसेंट छात्र सीख रहे जर्मन

आज हर 100 स्टूडेंट्स में करीब 20 परसेंट स्टूडेंट्स जर्मन और 10 परसेंट स्टूडेंट्स फ्रेंच सीख रहे हैं. पटना में जर्मन सीखने वाले स्टूडेंट्स की संख्या अधिक है. इसलिए यहां जर्मन कोचिंग भी अधिक संचालित हो रहे हैं. एक्सपर्ट का मानना है कि जर्मन सीखने के बाद करियर ऑप्शन अधिक है.