- कानपुर सेंट्रल स्टेशन के रीडेवलपमेंट के लिए सीपीएसई तैयार करेगा डीपीआर, सीपीएसई की दो कंपनियों के साथ आईआरएसडीसी का एमओए

- प्लेटफार्म-9 में वीआईपी ट्रेनों के पैसेंजर्स के लिए कैब वे का होगा निर्माण, जिससे पैसेंजर्स प्लेटफार्म के पास कार से पहुंच सकेंगे

kanpur@inext.co.in

KANPUR : कानपुर सेंट्रल तस्वीर बदलने का ब्ल्यू प्रिंट तैयार हो गया है. देश के 14 प्रमुख रेलवे स्टेशनों के रीडेवलपमेंट के लिए इंडियन रेलवे स्टेशन डेवलपमेंट कार्पोरेशन ने सेंट्रल पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइजेज की दो कंपनियों के साथ मेमोरेंडम ऑफ एग्रीमेंट साइन किया है. जिनमें कानपुर भी है. यह कंपनियां कानपुर सेंट्रल के रिडेवपलमेंट के लिए डिटेल्ड प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करेगी. जिसके मुताबिक सेंट्रल स्टेशन के डेवलपमेंट व‌र्क्स होंगे. डीपीआर बनाने वाली सीपीएसई की दो कंपनियां इंजीनियरिंग प्रोजेक्ट्स लिमिटेड और ब्रिज एंड रूफ कंपनी लिमिटेड को स्टेशन की डीपीआर बनाने के साथ ही इस प्रोजेक्ट के मैनेजमेंट कंसल्टेंट की भी जिम्मेदारी दी गई है. सेंट्रल स्टेशन के रीडेवपलमेंट को लेकर काम काफी दिनों से चल रहा है.जिसमें पैसेंजर एनीमिटीज को काफी बढ़ाया गया है. फुटओवर ब्रिजों में एक्सक्लेटर और लिफ्ट लगाई गई हैं.

फ‌र्स्ट फेज में 53.58 करोड़ से काम

कानपुर सेंट्रल के रिडेवलपमेंट के लिए आईआरएसडीसी के पास एक मास्टरप्लान पहले ही पहुंच चुका है. जिसमें फ‌र्स्टफेज में 53.58 करोड़ रुपए से डेवलपमेंट वर्क होने हैं. इसमें प्रमुख रूप से स्टेशन में टायलेट, ड्रिकिंग वाटर सिस्टम, पुराने हाईड्रेट इत्यादि को बदला जाएगा या और बेहतर किया जाएगा.

पीपीपीमोड डेवलपमेंट मॉडल फेल

इंडियन रेलवे के महत्वाकांक्षी स्टेशन रीडेवपलमेंट प्रोजेक्ट में कानपुर सेंट्रल शुरुआत से ही शामिल रहा है. एनसीआर जोन में कानपुर और इलाहाबाद स्टेशनों को ही रिडेवलपमेंट के लिए चुना गया है,लेकिन इसमें बीते तीन सालों में कई बदलाव हुए. पहले स्टेशन को पीपीपी मोड पर डेवलप करने के लिए पहल हुई. जिसके लिए कानपुर सेंट्रल की कीमत 200 करोड़ रुपए तय की गई.हालाकि पीपीपी मोड पर आगे बात नहीं बनी. अब फिर से इस प्रोजेक्ट की डीपीआर बनाने के लिए आईआरएसडीसी ने दो कंपनियों के साथ मेमोरेंडम ऑफ एग्रीमेंट साइन किया है. तो रीडेवलपमेंट प्रोसेस तेज होने की उम्मीद है.

रीडेवलपमेंट में ये काम होंगे शामिल-

- सिटी साइड पर मल्टी स्टोरी पार्किंग का निर्माण, दोपहिया वाहन पार्किंग को इसके लिए चिन्हित किया गया

-प्लेटफार्म-9 में वीआईपी ट्रेनों के पैसेंजर्स के लिए कैब वे का होगा निर्माण, जिससे पैसेंजर्स प्लेटफार्म के पास कार से पहुंच सकेंगे

- एमसीओ,आरएमएस और गार्बेज डम्प की शिफ्टिंग

- कैंट साइड पर यूटिलिटी बिल्डिंग का निर्माण जिसमें वेटिंग रूम, पूछताछ केंद्र, रिजर्वेशन काउंटर,जनरल टिकट काउंटर,वेटिंग रूम और एक शॉपिंग एरिया होगा.

- प्लेटफार्म और स्टेशन के स्ट्रक्चर को मजबूती देना जोकि चूहों और पानी लीकेज की वजह से कई जगहों पर खोखला हो चुके हैं.

- सिटी साइड पर पुराना तांगा स्टैंड पर यात्री निवास का कंस्ट्रक्शन

- स्टेशन के दोनों साइड पर पैसेंजर्स की इंट्री और डिपार्चर के लिए अलग अलग रास्तों का निर्माण

 

दिल्ली में आईआरएसडीसी के साथ दो कंपनियों का एमओए साइन हुआ है जोकि कानपुर समेत कई स्टेशनों के रिडेवपलमेंट के लिए डीपीआर तैयार करेंगे. इससे स्टेशन पर पहले से चल रहे कामों पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

- अजीत कुमार सिंह, सीपीआरओ, नार्थ सेंट्रल रेलवे