सुरक्षा दी गई
जी हां हाल ही में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपनी विकास समीक्षा यात्रा कर रहे थे। इस दौरान इनके काफिले पर बक्सर में हमला किया गया था। इस मामले के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने नीतीश कुमार की निजी सुरक्षा को लेकर समीक्षा बैठक की। इसके बाद उन्हें जेड प्लस श्रेणी का सुरक्षा दी गई है।

जेड प्लस
जेड प्लस कैटगरी वाली सिक्योरिटी में कुल 36 सुरक्षाकर्मी होते हैं। इनमें 10 एनएसजी और एसपीजी कमांडो होते हैं। इसके अलावा आईटीबीपी, सीआरपीएफ के जवान और पुलिस के जवान भी शामिल होते हैं। सुरक्षा के पहले घेरे में एनएसजी के जवान और जबकि दूसरे घेरे में एसपीजी के कमांडो चलते हैं।  

अब नीतीश कुमार को म‍िली जेड प्लस,जानें z,y और x स‍िक्‍योर‍िटी से ये है क‍ितनी अलग

जेड कैटगरी
जेड कैटगरी वाली सिक्योरिटी में 22 सुरक्षाकर्मी होते हैं। जेड कैटगरी की सिक्योरिटी में आईटीबीपी और सीआरपीएफ के जवान सुरक्षा के लिए तैनात किए जाते हैं। इसके अलावा इसमें दिल्ली पुलिस के जवान भी शामिल होते हैं। इतना ही हीं जेड कैटगरी सुरक्षा में चलने वाले व्यक्ति को एक एस्कॉर्ट कार भी मिलती है।

वाई कैटगरी
वहीं सिक्योरिटी सर्विस की लिस्ट में एक तीसरी वाई कैटगरी की सिक्योरिटी है। वाई कैटगरी में 11 सुरक्षाकर्मी तैनात होते हैं। इसमें सीआरपीएफ के जवानों के अलावा दो पर्सनल सिक्योरिटी ऑफीसर्स यानी कि पीएसओ शामिल होते हैं।

एक्स कैटगरी

वहीं एक चौथी एक्स कैटगरी वाली सिक्योरिटी है। इस कैटगरी में मात्र 2 सुरक्षाकर्मी तैनात होते हैं। इसमें भी एक सिक्योरिटी ऑफीसर्स यानी कि पीएसओ सुरक्षा में तैनात होता है।

नोट छपते ही ऐसे चोरी कर लेता था ये अफसर, जानें देश में कहां-कहां छपते हैं नोट और कितना आता है खर्च

National News inextlive from India News Desk