बेसिक स्किल कोर्स के तहत बोर्ड कराएगा ट्रेनिंग

9 से 12वीं तक के बच्चों के लिए शुरु होगा कोर्स

मेरठ. सीबीएसई अब बच्चों के छुपे हुए टैलेंट को विकसित करने में भी सहयोग करेगा. इसके तहत स्कूल लेवल पर ही बच्चों को स्किल बेस्ट एजुकेशन प्रोवाइड कराई जाएगी. 9 से 12वीं तक के स्टूडेंट्स के लिए बोर्ड ने अनूठी पहल की है. इसके तहत बोर्ड ने 59 नए स्किल्ड कोर्स इंट्रोड्यूज किए हैं. स्टूडेंट्स अपनी इच्छा के अनुसार इन्हें चूज कर सकते हैं. सिटी के स्कूल्स प्रिंसिपल्स का कहना है कि इस तरह के कोर्स स्टूडेंट्स के लिए काफी बैनिफिशिएरी होते हैं. रूचि परक विषय होने से उनका हुनर और निखरेगा.

9वीं और 11वीं में चुनेंगे सब्जेक्ट

बोर्ड की ओर से निर्देशों के तहत स्टूडेंट्स इन कोर्सेज के लिए नौंवी और 11वीं में इनको ऑप्शनल चूज कर सकते हैं. इसके तहत नौंवी में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, रिटेल, आइटी, सिक्योरिटी, ऑटोमोटिव, ब्यूटी एंड वेलनेस, एग्रीकल्चर, फूड प्रोडक्शन, बैंकिग एंड इंश्योरेंस, मार्केटिग एंड सेल्स, हेल्थकेयर समेत कई कोर्सेज को शामिल किया गया है.

11वीें के लिए ये हैं ऑप्शन

11वीं के स्टूडेंट्स के लिए बोर्ड ने योग, अर्ली चाइल्डहुड केयर एंड एजुकेशन, अप्लाइड फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ्स, मेडिकल डायग्नोस्टिक्स, टेक्सटाइल डिजाइन, फूड न्यूट्रीशियन एंड डाइटेटिक्स, फैशन स्टडीज आदि सब्जेक्ट्स को शामिल किया है.

स्टूडेंट्स के लिए इस तरह की पहल बहुत जरूरी है. इससे उनके स्किल्स डेवलप होते हैं. इसके अलावा स्कूल टाइम में ही वह अपने इंट्रेस्ट को पहचान सकते हैं.

राना लुबाना, प्रिंसिपल, इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल कैंट ब्रांच

बोर्ड की इस पहल का स्वागत है. बच्चों की प्रतिभा को निखारना बहुत जरूरी है. स्कूल के दौरान वह टैलेंट को विकसित कर सकते हैं.

डा. अल्पना शर्मा, प्रिंसिपल, डीएवी पब्लिक स्कूल

स्टूडेंट्स अक्सर 12 के बाद कन्फ्यूज रहते हैं कि आगे क्या करें. इस पहल से वह अपने इंट्रेस्ट को लेकर फोकस्ड हो सकते हैं.

निधि मलिक, प्रिंसिपल, सेंट जेवियर्स व‌र्ल्ड स्कूल