-श्रम संसाधन मंत्री विजय सिन्हा ने की समीक्षा बैठक

patna@inext.co.in

PATNA: अब जिलों में जो भी नियोजन मेला आयोजित होगा उसमें तीन अतिरिक्त काउंटर भी लगाए जाएंगे. जिसमें एक अप्रेंटिसशिप प्रशिक्षण योजना के संदर्भ में युवाओं को मिलने वाले लाभ की पूरी जानकारी दी जाएगी. युवाओं को अप्रेंटिस प्रशिक्षण के दौरान उन्हें स्टाईपन की सुविधा दी जाएगी.

भविष्य में उनका रोजगार भी इस आधार पर मिलेगा. ये बातें श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने शुक्रवार को नियोजन भवन में अफसरों के साथ समीक्षा बैठक में कही. उन्होंने हर जिले में नियोजन मेला लगाने का निर्देश दिया.

15 अक्टूबर को कार्यशाला

श्रम संसाधन मंत्री ने आदेश दिया कि नियोजन मेला में युवाओं को रोजगार संबंधी जानकारी देने के लिए काउंटर पर बैनर लगाया जाए और योजना का सारांश बुकलेट के रूप में भी उपलब्ध कराया जाए. बैठक में यह निर्णय लिया गया कि 15 अक्टूबर को नियोजन भवन में अप्रेंटिसशिप प्रशिक्षण संबंधी कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा. कार्यशाला में बिहार इंडस्ट्रीज एसोसिएशन, सीआइआइ एवं बिहार चैम्बर ऑफ कॉमर्स से जुड़े हुए संस्थानों के प्रतिनिधि भाग लेंगे. 18 एवं 19 अक्टूबर को वैशाली जिले के हाजीपुर में नियोजन मेला लगाया जाएगा. बैठक में विभाग के अपर मुख्य सचिव सुधीर कुमार, निदेशक धर्मेन्द्र सिंह समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे. मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने तीन सदस्यीय कमेटी गठित करने का आदेश दिया,

पीएफ एवं ईएसआई की कटौती की रिपोर्ट तलब

मंत्री ने राज्य में कार्यरत सिक्योरिटी एजेंसियों की सूची तैयार करने का आदेश देते हुए कहा कि उन एजेंसियों द्वारा कामगारों को न्यूनतम मजदूरी का भुगतान एवं पीएफ और ईएसआई की कटौती संबंधी रिपोर्ट तीन दिनों के अंदर लें. बैठक में मूल्यांकन निदेशक विकास रजक को निर्देश दिया गया कि नामांकन की अंतिम तिथि से एक सप्ताह के अंदर सभी आइटीआइ में नामांकन सूची और उसके डाटा को मंगा लें. जो आईटीआई नामांकन सूची व डाटा उपलब्ध नहीं कराएंगे, उन पर कार्रवाई होगी.