-प्रवासी भारतीय दिवस के दूसरे दिन मॉरीशस के प्रधानमंत्री ने की घोषणा

-हरियाणा सरकार के सहयोग से गीता महोत्सव व यूपी सरकार की ओर होगा भोजपुरी महोत्सव


VARANASI : प्रवासी भारतीय दिवस के दूसरे दिन बतौर चीफ गेस्ट मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रवींद जगन्नाथ ने प्रवासियों को संबोधित करते हुए घोषणा की कि उनका देश भागवत् गीता महोत्सव और भोजपुरी महोत्सव आयोजित करेगा. कहा कि मॉरीशस में हरियाणा सरकार के सहयोग से गीता महोत्सव व यूपी सरकार की ओर भोजपुरी महोत्सव होगा. पीएम मोदी को दुनिया का अद्भुत लीडर बताते हुए प्रवींद ने भारत सरकार की स्किल इंडिया, डिजिटल इंडिया, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, स्वच्छ भारत अभियान और आयुष्मान भारत आदि योजनाओं की काफी प्रशंसा भी की. मॉरीशस के प्रधानमंत्री ने समारोह में सभी का स्वागत हिंदी में किया. उन्होंने सभी का आभार जताते हुए कहा कि हम संस्कृति की गोद में हैं और यहां से गंगा जी का आशीर्वाद लेकर अपने अपने देश जायेंगे.

 

मॉरीशस ने बचा रखी है संस्कृति

सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीएम नरेंद्र मोदी के साथ ही मॉरीशस पीएम प्रवींद जगन्नाथ का स्वागत करते हुए कहा कि विपरीत परिस्थितियों में भी मॉरीशस के लोगों ने अपनी संस्कृति बचा रखी है अपने रीति रिवाजों को संजोकर रखा है यह अनुपम उदाहरण है. काशी की पुरातन काया को बनाए रखते हुए आधुनिकता के साथ उसे आगे बढ़ाया जा रहा है. आज नरेंद्र मोदी के प्रभावी नेतृत्व के कारण भारत की प्रतिष्ठा बाहर के देशों में बढ़ी है और उससे आप लोगों का गौरव और सम्मान भी बढ़ा है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रवासी भारतीय दिवस को काशी में आयोजित करना हमारे लिए गर्व की बात है.


अटल जी की देन, प्रवासी दिवस

प्रवासी दिवस के जन्मदाता अटल जी को नमन करते हुए केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने प्रवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि यह दिवस उन्हीं की देन है. 2004 से 2014 के बीच इस दिवस का महत्व घटता चला गया था. सुषमा स्वराज ने पिछली सरकार पर प्रवासी दिवस की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए कहा कि पीएम मोदी ने इस दिवस की गरिमा बढ़ाने के साथ इसमें जान भी फूंक दी. सुषमा स्वराज ने पीएम मोदी को सम्बोधित करते हुए कहा कि आप यहां आज दो भूमिका में हैं. पहला प्रधानमंत्री की और दूसरा, बनारस के सांसद की. काशी वासियों ने इस प्रवासी भारतीय दिवस को अपने उत्साह और आतिथ्य से काशीमय कर दिया है. मेहमानों के स्वागत के दौरान सुषमा स्वराज चीफ गेस्ट मॉरीशस के पीएम का स्वागत करना भूल गई, मगर चंद सेकेंड बाद ही दोबारा माइक थाम अपनी भूल स्वीकार करते हुए उन्होंने उनका स्वागत किया.

National News inextlive from India News Desk