Family के जरिए भिजवाया जाएगा message

सिटी के कई एरियाज में हजारों की संख्या में ऐसे वोटर्स हैं जो इस समय विदेश में जॉब कर रहे हैं. होने वाले डिफरेंट इलेक्शंस में इनकी भागीदारी फिलहाल ना के बराबर है. यही कारण है कि नेक्स्ट ईयर होने वाले पार्लियामेंट इलेक्शन से पहले वोटर्स की संख्या बढ़ाने के लिए इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया ने दूसरों के साथ एनआरआईज को भी टारगेट किया है. विदेश में रहने वालों को उनके फैमिली मेंबर्स के जरिए मैसेज भेजा जाएगा कि वह ऑनलाइन आवेदन कर अपना नाम मतदाता सूची में दर्ज करवाएं. ताकि, वह इलेक्शंस में अपनी हिस्सेदारी निभा सकें. इसके लिए ऑफिसर्स बीएलओ को मीटिंग के दौरान इंस्ट्रक्शंस भी दे रहे हैं.

कॉलेजों को भी किया जाएगा target

ऑफिसर्स का कहना है कि यंगस्टर्स को वोटिंग के लिए अधिक से अधिक मोटीवेट करने की कोशिश की जा रही है. इसके लिए एडमिनिस्ट्रेशन की टीम कॉलेजों में जाकर अवेयरनेस अभियान चलाएगी. इसके अलावा कॉलेज प्रबंधन से अपील की जाएगी कि वह अपने कैंपस में वोटिंग और अवेयरनेस के लिए एक रूम प्रोवाइड कराएं. जहां उनकी ओर से एलॉट किया गया इम्प्लाई स्टूडेंट्स को वोटिंग के बारे में जानकारी देगा. इतना ही नहीं इसी रूम में मतदाता सूची में नाम दर्ज करवाने के लिए फॉर्म भी अवेलेबल कराए जाएंंगे.

एक जनवरी को 18 साल का होना जरूरी

जो यंगस्टर्स एक जनवरी 2014 को 18 साल के हो जाएंगे, उनको इस बार मतदाता सूची में शामिल किया जा रहा है. इसके लिए कॉलेजों में कैंपेनिंग चलाई जानी है. वहीं स्नातक निर्वाचक नामावली की मतदाता सूची का प्रकाशन भी एक अक्टूबर को हो चुका है. इसमें नाम दर्ज कराने के लिए फॉर्म 18 भरना होगा. जो यंगस्टर्स एक नवंबर 2013 को 18 साल के हो गए हैं वह यह फॉर्म भर सकते हैं. इसके बाद एडमिनिस्ट्रेशन जांच करने के बाद नाम जोडऩे की प्रॉसेस शुरू कर देगा.