BAREILLY: आयू के यूजी और पीजी स्टूडेंट्स पहली बार मेन एग्जाम में ओएमआर शीट से रूबरू होंगे. ओएमआर शीट को फिल करने के लिए बीसीबी में जगह-जगह फ्लेक्स लगाए गए हैं. पहली बार कोडिंग व्यवस्था लागू करने के बाद स्टूडेंट्स से ओएमआर शीट भी भरवाया जाएगा. एग्जाम कॉपी का पहला शीट ओमआर शीट के रूप में होगा. जहां स्टूडेंट्स अपनी इंफॉर्मेशन तो भरेगा ही साथ ही कॉपी चेकिंग के दौरान एग्जामिनर भी मा‌र्क्स कोड के रूप में फिल करेगा. ओएमआर शीट को भरने के लिए स्टूडेंट्स को खास निर्देश दिए गए हैं. बॉक्स में मैटर फिल करने के लिए स्टूडेंट्स पेन का यूज करेंगे, लेकिन सर्किल को भरने के लिए उन्हें केवल एचबी पेंसिल का यूज करने के निर्देश दिए गए हैं.

सैकड़ों के admit card अटके

आरयू के सैकड़ों स्टूडेंट्स को अभी तक एडमिट कार्ड नहीं मिल पाए हैं. इनका रोल नम्बर भी जारी नहीं किया गया है, जबकि मेन एग्जाम थर्सडे से स्टार्ट होंगे. आरयू ने एग्जाम फॉर्म में कई आपत्तियां लगाकर इनके फॉर्म रोक दिए हैं. आरयू ने इसकी इंफॉर्मेशन स्टूडेंट्स को भी नहीं दी. जब स्टूडेंट्स को एडमिट कार्ड नहीं मिला तब उन्हें मालूम चला. अब वे एडमिट कार्ड के लिए आरयू का चक्कर काट रहे हैं. बीए, बीकॉम, बीएससी समेत कई कोर्सेज के ऐसे सैकड़ों स्टूडेंट्स हैं. इनकी सही संख्या आरयू भी नहीं बता पा रहा है.

5 centres पर कड़ी नजर

आरयू का एग्जाम क्भ्7 सेंटर्स पर कंडक्ट किया जाएगा. इनमें से आरयू ने पहली बार अतिसंवेनदशील सेंटर भी चिन्हित किए हैं. भ् सेंटर्स को इस कैटेगरी में रखा गया है. ये वे कॉलेजेज हैं जो देहात के दूर-दराज के इलाकों में स्थित हैं. इन सेंटर्स पर परमानेंट ऑब्जर्वर तो रहेंगे ही साथ ही फ्लाइंग स्क्वॉयड की भी बराबर निगरानी रहेगी.