प्रयागराज (ब्यूरो)। पेपर कटिंग से बच्चों को क्रिएटिव लर्निंग का ज्ञान देने दिल्ली से आये दो युवकों की गुरुवार को जान पर बन आयी। स्कूल खुलने से पहले ही पहुंच गये दोनों को स्थानीय लोगों ने बच्चा चोर घोषित कर दिया और जमकर धुनाई की। पिटाई से बुरी तरह से जख्मी युवकों को मौके पर पहुंची डॉयल 100 टीम की टीम ने सुरक्षित निकाला। इलाज के बाद दोनों खतरे से बाहर बताये गये हैं। इस संबंध में करेली थाने में तीन सौ लोगों के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया है। पुलिस ने इसकी छानबीन शुरू कर दी है।

अफवाह फैलने पर जुटी भीड़

करेली में घटना गुरुवार की सुबह नौ बजे के करीब सामने आयी। पीटे गये युवकों का नाम मुकेश पुत्र गणेश और अजय राय पुत्र तुलसी राय है। दोनो बदरपुर, जैदपुर, साउथ दिल्ली के रहने वाले हैं। मुकेश की तरफ से रिपोर्ट दर्ज करने के लिए करेली थाने में दी गयी तहरीर के अनुसार वे बच्चों को क्रिएटिव बनाने के लिए गाइड का काम करते हैं। वह उन्हें पेपर कटिंग से तमाम आकृतियां बनाना सिखाते हैं जो उनके दिमाग को क्रिएटिव बनाये। इसके लिए वह स्कूल-स्कूल जाते हैं और बच्चों से इंटरैक्ट करते हैं। इसी मंशा से दोनों यहां पहुंचे थे। सुबह नौ बजे दोनो करेली में स्थित युनिटी पब्लिक स्कूल पहुंच गये थे। संयोग से सुबह नौ बजे तक स्कूल खुला नहीं था।

स्कूल बंद होने का कारण पूछा तो शुरू हो गयी धुनाई

महेश और अजय के पास मौजूद सामान बच्चों को आकर्षित करने वाला था। उन्होंने गलती कर दी स्कूल बंद क्यों है पूछ कर। इसी पर पब्लिक ने उन्हें घेर लिया और बच्चा चोर बता दिया। चंद मिनट के भीतर वहां करीब ढाई तीन सौ लोग जुट गये। उन्होंने दोनों की तलाशी ली। पेपर कटिंग के लिए सामान आदि मिलने पर पब्लिक ने उन्हें बच्चा चोर घोषित किया और धुनाई शुरू कर दी। पब्लिक उनका कोई तर्क सुनने को तैयार नहीं थी। संयोग से इसी दौरान किसी ने सूचना दी तो डॉयल 100 बाइक टीम मौके पर पहुंची। उन्होंने दोनों को पब्लिक से मुक्त कराकर थाने पहुंचाया।

इन धाराओं में दर्ज हुआ मुकदमा

34 आईपीसी    कॉमन कान्सपेरेसी

147 आईपीसी    बलवा

323 आईपीसी    मारपीट

505 (2)    आईपीसी अफवाह फैसला

342    आईपीसी बंधक बनाना

392 आईपीसी    लूट

307 आईपीसी    जानलेवा हमला

7 क्रिमिनल लॉ अमेंडमेंड एक्ट

दो दिन में दूसरी रिपोर्ट

बच्चा चोरी का आरोप लगातार भीड़ द्वारा पीटे जाने का शहर एरिया में ही दो दिन के भीतर दो मामले दर्ज किये गये हैं। पहला मामला बुधवार को धूमनगंज थाने में दर्ज किया गया था। इसमें झलवा में पब्लिक ने झलवा में एक युवक की धुनाई कर दी गयी थी। आरोप था कि वह बच्चे को बहला फुसलाकर ले जा रहा था। वह मूल रूप से कौशांबी का रहने वाला था।

हर दिन सामने आ रही घटनाएं

बीते शुक्रवार से हर दिन जिले में बच्चा चोरी के नाम पर मॉब लिंचिंग की घटनाएं सामने आ रही हैं। शुरुआती तीन दिनों में घटनाएं नैनी और घूरपुर एरिया में हुई थीं। इसके बाद धूमनगंज और करेली में इस तरह की घटनाएं सामने आयी हैं। लगातार हो रही घटनाएं मामला गंभीर होते जाने की ओर इशारा कर रही हैं। खास बात यह भी है कि हाल के दिनों में किसी भी स्पॉट के आसपास बच्चा चोरी की घटनाएं नहीं हुई हैं। इसी से पुलिस के कान खड़े हो गये हैं और उसने गंभीर रुख अख्तियार कर लिया है।

'इवेस्टिगेशन के लिए मामला आया है। युवकों की निशानदेही के आधार पर आरोपितों की पहचान की जाएगी। मॉब लिंचिंग का मामला है। जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।'

- विनीत सिंह, इंस्पेक्टर

prayagraj@inext.co.in

Posted By: Vandana Sharma

Crime News inextlive from Crime News Desk