कानपुर। टीम इंडिया ने आज तक सिर्फ दो बार वर्ल्डकप जीता है। पहली बार 1983 में और दूसरी बार 2011 में, ये विश्वकप एमएस धोनी की अगुआई में भारत ने जीता था। हालांकि यह खिताब भारत के हाथ तब लगा, जब धोनी सेना ने सेमीफाइनल और फिर फाइनल में जीत दर्ज की। सेमीफाइनल मुकाबला आज ही के दिन मोहाली में खेला गया था और भारत के सामने थी चिर-प्रतिद्वंदी पाकिस्तान की टीम। दोनों टीमों के लिए यह मुकाबला करो या मरो वाला था, क्योंकि एक हार उन्हें वर्ल्डकप से बाहर कर देती। खैर अंत में भारत ने बाजी मारी और फाइनल का टिकट कटाया। मगर ये मैच भी काफी रोचक रहा था।

भारत ने पाक को दिया था 261 रन का लक्ष्य

भारत की तरफ से कप्तानी कर रहे एमएस धोनी ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग का निर्णय लिया। वीरेंद्र सहवाग और सचिन तेंदुलकर ओपनिंग करने आए। दोनों ने टीम को अच्छी शुरुआत दिलाई। हालांकि पांच ओवर तक इस ओपनिंग जोड़ी ने तूफानी बैटिंग की और पांच ओवर में 48 रन जोड़े। अभी भारत का स्कोर 48 रन था कि पहला झटका वीरेंद्र सहवाग के रूप में लिखा। वीरू का विकेट वहाब रियाज ने लिया जिन्होंने इस विस्फोटक बल्लेबाज को 38 रन पर एलबीडब्ल्यू आउट किया। हालांकि पहला विकेट गंवाने के बाद सचिन एक छोर पर टिके रहे और भारत का स्कोर बोर्ड चलाते रहे। तीसरे नंबर पर बैटिंग करने आए गंभीर 27 रन बनाकर आउट हुए। वहीं विराट कोहली 9 रन पर चलते बने, धोनी भी कुछ खास नहीं कर पाए 25 रन पर अपना विकेट गंवा बैठे। हालांकि भारत की तरफ से सचिन ने सबसे ज्यादा 85 रन बनाए, जिसके चलते भारत का स्कोर 250 के पार पहुंचा। 50 ओवर खत्म होने के बाद टीम इंडिया ने 9 विकेट के नुकसान पर 260 रन बनाए।

50 ओवर भी नहीं खेल पाए पाकिस्तानी

पाकिस्तान को यह मुकाबला जीतने के लिए 261 रन बनाने थे। इससे पहले पाक टीम वर्ल्डकप में भारत से कभी नहीं जीती थी। ऐसे में बल्लेबाजों पर काफी दबाव था। कामरान अकमल और मोहम्मद हफीज पाकिस्तान की तरफ से ओपनिंग करने आए। मगर यह दोनों ज्यादा देर क्रीज पर टिक नहीं पाए। अकमल 19 रन बनाकर पवेलियन लौटे। इसके बाद हफीज भी 43 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद धीरे-धीरे करके विकेट गिरते रहे। हालांकि मिस्बाह उल हक ने सबसे ज्यादा 56 रन बनाए मगर वो टीम को जीत नहीं दिला पाए। पूरी पाक टीम 50 ओवर खेले बिना 231 रन पर ऑलआउट हो गई। इसी के साथ भारत ने 29 रन से मैच जीत लिया और फाइनल में पहुंचे।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk

inext-banner
inext-banner