-एक दिन पहले से शुरू हो गया था स्नान का सिलसिला

-बसंत पंचमी की देर शाम तक संगम घाटों पर जुटी रही श्रद्धालुओं की भीड़

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: कुंभ मेले के तीसरे और आखिरी शाही स्नान बसंत पंचमी पर भी श्रद्धालुओं के उत्साह के आगे सभी दुश्वारियां छोटी पड़ गई. कई किलोमीटर चलकर संगम पहुंचे श्रद्धालुओं और स्नानार्थियों का उत्साह देखने लायक रहा. बसंत पंचमी के स्नान का समय शनिवार की रात से ही शुरू हो गया था. यही कारण था कि शनिवार की रात से ही श्रद्धालुओं की भीड़ संगम तट पर पहुंचकर पुण्य की डुबकी लगाने लगी थी. मेला प्रशासन की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार रविवार दोपहर तीन बजे तक डेढ़ करोड़ श्रद्धालुओं ने पुण्य की डुबकी लगाई.

भीड़ डायवर्जन में जुटे रहे लोग

-स्नानार्थियों की सुगमता एवं सरलता के साथ ही स्नान घाटों तक पहुंचने के लिए यातायात की विशेष रणनीति बनाई गई थी.

-घाटों पर भीड़ इकट्ठी न हो, इसके लिए लोगों से तत्काल घाट छोड़ने की रिक्वेस्ट की जा रही थी.

-पुलिस के आला अधिकारी स्नान व शाही शोभा यात्रा के दौरान पूरे समय रास्ते व मुख्य घाटों पर मौजूद रहे.

-फोर्स के जवान, पुलिस, वालंटियर्स, मजिस्ट्रेट लगातार कंट्रोल करते रहे.

हेलीकॉप्टर से हुई पुष्प वर्षा

अंतिम शाही स्नान के अवसर पर हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा की गई. जिसे देखकर स्नानार्थियों में खासा उत्साह दिखा. शाही स्नान के दौरान जहां एक ओर संत महात्माओं के ऊपर पुष्प वर्षा की गई. वहीं दूसरे घाटों पर स्नान कर रहे स्नानार्थियों पर भी विशेष रूप से पुष्प वर्षा की गई.