- सरकार का एक साल का कार्यकाल सोमवार को होगा पूरा

- लोकभवन में 'एक साल, नई मिसाल' कार्यक्रम होगा आयोजित

- नई योजनाओं और सरकारी नौकरियों का खुल सकता है पिटारा

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW :प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार के गठन का एक वर्ष पूरा होने पर प्रदेशवासियों को राज्य सरकार की ओर से कुछ सौगातें मिल सकती हैं. सोमवार को लोकभवन में इस उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम 'एक साल, नई मिसाल' के जरिए प्रदेश सरकार एक वर्ष के दौरान के अपने कामकाज का ब्योरा पेश करेगी. कार्यक्रम में राज्यपाल राम नाईक मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होंगे. इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडे और तमाम मंत्री मौजूद रहेंगे. सूत्रों की माने तो इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कई कल्याणकारी योजनाओं संग सरकारी नौकरियों का पिटारा खोलने का ऐलान कर सकते हैं.

हर विभाग ने की तैयारी

राज्य सरकार का एक साल का कार्यकाल पूरा होने पर ज्यादातर विभागों ने अपनी उपलब्धियों का ब्योरा तैयार किया है. इतना ही नहीं, तमाम विधायकों ने भी अपने क्षेत्रों में हुए कामकाज का ब्योरा भी तैयार कर उसका प्रचार करना शुरू कर दिया है. वहीं सोमवार को लोकभवन में होने वाले कार्यक्रम में राज्य सरकार की ओर से 120 पेज की एक बुकलेट भी तैयार करायी गयी है जिसमें सभी विभागों का उल्लेख होगा. वहीं दूसरी ओर बीते एक साल की राज्य सरकार की उपलब्धियों की चर्चा करें तो लघु और सीमांत किसानों की कर्जमाफी के अलावा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में हुई यूपी इंवेस्टर्स समिट पहले स्थान पर है. इंवेस्टर्स समिट के दौरान प्रदेश सरकार द्वारा लागू की गयी कई अहम नीतियों से सूबे के बदले माहौल को भी राज्य सरकार अपनी उपलब्धियों में शामिल करेगी. इसके अलावा पहली बार प्रदेश के गन्ना किसानों को वक्त पर भुगतान कराने को भी राज्य सरकार अपनी उपलब्धियों में शुमार करेगी. आम आदमी को सुरक्षा का वातावरण, हर गरीब को छत और बिजली की उपलब्धता और अविकसित इलाकों में खास योजनाओं के जरिए विशेष ध्यान देने की सरकार की प्रतिबद्धता भी एक वर्ष पूरा होने के जश्न को दोगुना करेंगे.

19 मार्च को ली थी शपथ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 19 मार्च 2017 को प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. उनकी सरकार केएक वर्ष के कार्यकाल पर कार्यक्रम के दौरान 'एक साल-नई मिसाल' फिल्म का प्रदर्शन किया जाएगा. साथ ही, 'एक साल-नई मिसाल' पुस्तिका का विमोचन किया जाएगा. इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया जाएगा. जिसमें लोक कलाकारों द्वारा आल्हा, फरूवाही, राई, रागिनी, मयूर नृत्य और कथक का प्रदर्शन किया जाएगा.

बॉक्स

कानून-व्यवस्था सुधारने में रहे आगे

सूबे में योगी सरकार के गठन के बाद कानून-व्यवस्था बड़ी प्राथमिकता रही. यही वजह है कि सूबे में उद्योगों का जाल बिछाने को सुरक्षित माहौल देने के लिए पुलिस ने अपराधियों को सफाया करना शुरू कर दिया. एक वर्ष के भीतर पुलिस ने 1294 एनकाउंटर के जरिए 41 शातिर अपराधियों को ढेर कर दिया तो 3065 अपराधी गिरफ्तार किए गये. एनकाउंटर्स में 325 अपराधी घायल भी हुए. पुलिस की सख्ती को देख 5409 अपराधियों ने सरेंडर का रास्ता अपनाया. भू-माफिया के खिलाफ चलाए गये अभियान के तहत 1531 माफिया के खिलाफ 2596 मुकदमे दर्ज किए गये. इनमें 1922 को गिरफ्तार किया गया. वहीं बीते एक वर्ष के दौरान अपराध के आंकड़ों में भी कमी दर्ज की गयी. डकैती में 5.70 फीसद, हत्या में 7.35 फीसद, रोड होल्डअप में 100 फीसद, फिरौती में 13.21 फीसद, आगजनी में 29.73 फीसद की कमी हुई. खास बात यह है कि प्रमुख त्योहारों के दौरान प्रदेश में शांति कायम रही.

बॉक्स

पर्यटन से यूपी को चमकाने की तैयारी

प्रदेश सरकार ने पर्यटन के जरिए यूपी को चमकाने की भी कवायद की. अयोध्या में दीपावली पर खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रंगोत्सव कार्यक्रम में शिरकत की तो होली पर उन्होंने बरसाना जाकर इसे इंटरनेशनल टूरिज्म मार्केट में नई पहचान दिलाई. प्रदेश सरकार स्पिरीचुअल टूरिज्म के जरिए विदेशी पर्यटकों को लुभाने जा रही है तो दूसरी ओर इको-टूरिज्म और वन्य जीव पर्यटन को भी बढ़ावा दिया जा रहा है. इसी वजह से मुख्यमंत्री ने दुधवा नेशनल पार्क जाकर बर्ड फेस्टिवल का शुभारंभ भी किया. वहीं पहली बार हरियाणा के सूरजकुंड मेले में यूपी ने थीम स्टेट के रूप में हिस्सा लिया. राज्य सरकार ने वाराणसी में दशाश्वमेध घाट से लेकर काशी विश्वनाथ मंदिर तक और आगरा में ताजमहल से आगरा फोर्ट तक कॉरीडोर बनाने का फैसला लिया.

सरकार का रहा इन पर फोकस

- 34.11 लाख किसानों का ऋण मोचन योजना से 20,598 करोड़ का कर्ज माफ

- 24,531 करोड़ रुपये का गन्ना किसानों को किया गया भुगतान

- 05 लाख करोड़ रुपये के एमओयू यूपी इंवेस्टर्स समिट में हुए साइन

- 03 लाख से ज्यादा आवासहीन लोगों के लिए व्यक्तिगत आवास बनाए जा रहे

- 11.05 लाख परिवारों को खुले में शौच से मुक्त करने का लक्ष्य

- 1.54 करोड़ बच्चों का स्कूलों में दाखिला, पिछले साल से दो लाख अधिक

- 1.67 करोड़ विद्यार्थियों को मुफ्त यूनिफार्म, पहली बार बंटे जूता, मोजा, स्वेटर

- 8.85 लाख आवास पीएम आवास योजना (ग्रामीण) के तहत, तीन लाख तैयार

- 2697 किमी की सड़कें प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत बनाई गयी

- 09 एयरपोर्ट और 22 एयर रूट रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम के तहत चयनित

- 1.01 लाख किमी की प्रदेश की सड़कों को एक वर्ष में किया गया गढ्ढामुक्त

- 1048 किमी की 110 सड़कों व परियोजनाओं का काम किया गया पूरा

- 08 नये मेडिकल कॉलेजों को मंजूरी, गोरखपुर में एम्स के लिए एमओयू

- 32 लाख मुफ्त बिजली कनेक्शन बांटे गये, 56 हजार मजरों का ऊर्जीकरण