लखनऊ (ब्यूरो)। मानस इंकलेव 373 में रहने वाले सीमेंट कारोबारी ने पुलिस को बताया कि वे यहां पत्‌नी और एक साल की बेटी पीहू के साथ रहते हैं। गुरुवार दोपहर 12 बजे वे पीहू को नौकरानी की देखरेख में छोड़कर किसी काम से चले गए थे।

बाल्टी में गिरी मिली बच्ची

नौकरानी ने बताया कि वह किचन में काम कर रही थी और पीहू कमरे में खेल रही थी। खेलते-खेलते वह बाथरूम में पहुंची और वहां पानी की बाल्टी में मुंह के बल गिर गई। जब वह उसे तलाशते हुए वहां पहुंची तो उसे इसका पता चला। उसने तुरंत इसकी जानकारी अमित को दी। जानकारी मिलते ही अमित और उनकी पत्‌नी वहां आए और बच्ची को लोहिया अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

जुड़वा भाई संग खेल रही थी

सीओ गाजीपुर दीपक कुमार सिंह के मुताबिक पीहू के पिता काम से बाहर गए थे। दोपहर में नौकरानी देखरेख के लिए घर पर थी। पीहूू की दादी कांता अपने कमरे में थीं। छानबीन में पता चला कि पीहू अपने जुड़वा भाई के साथ बाथरूम के पास खेल रही थी। कुछ दूरी पर बाल्टी में पानी भरा था। मासूम बाल्टी के पास गई और उसमें गिर गई।

मुंबई गई थी मां

पीहू की मां अपनी जेठानी के कैंसर का इलाज कराने कुछ दिन पहले मुंबई गई थीं। जानकारी मिलने पर वह रात में फ्लाईट पकड़कर लखनऊ लौट आई। पुलिस के मुताबिक परिजनों ने किसी भी कार्रवाई से इंकार करते हुए पोस्टमार्टम कराने से मना कर दिया है।

lucknow@inext.co.in

Posted By: Dhananjay Shukla

Crime News inextlive from Crime News Desk