मेरठ कॉलेज में सिक्योरिटी को लेकर शुरु हुई कार्रवाई

कॉलेज में प्रॉक्टर बोर्ड व पुलिस प्रशासन ने तीसरे दिन भी की चेकिंग

Meerut. मेरठ कॉलेज में गोली चलने के बाद से तीसरे दिन तक माहौल में दहशत है, ऐसे में कॉलेज में आगे स्टूडेंट्स को सुरक्षित महसूस हो सके, नए शैक्षिक सत्र में किसी तरह का असर न पड़े इसको देखते हुए कॉलेज भी लगातार सख्ती बरत रहा है. ऐसे में कॉलेज ने शनिवार को सभी गेट बंद कर दिए थे, वही शताब्दी द्वार से ही एंट्री की गई, इसके साथ ही स्टाफ की पार्किंग भी शनिवार को अंदर शिफ्ट कर दी गई है. कॉलेज की तरफ से तीसरे दिन भी चेकिंग अभियान भी चलाया गया.

कॉलेज परिसर में चेकिंग

शनिवार को भी कॉलेज परिसर में कॉलेज के प्रोक्टर बोर्ड व पुलिस प्रशासन द्वारा चेकिंग की गई. चीफ प्रॉक्टर डॉ. अलका चौधरी ने बताया कि कॉलेज परिसर, कॉलेज लाइबे्ररी, हॉस्टल व कमरों की सभी जगह की चेकिंग की गई है. ये देखा गया है कि कोई बाहरी स्टूडेंट तो नही है, इसके अलावा तीन छात्रों को अभी केवल टैम्प्रेरी तौर पर ब्लैकलिस्टेड किया गया है, एक सप्ताह में अगर वो खुद को निर्दोष साबित नहीं कर पाते है तो वो ऑटोमेटिक ब्लैकलिस्टेड हो जाएंगे.

चेकिंग में मिले बाहरी छात्र

शनिवार को भी चेकिंग के दौरान लगभग 90 बाहरी स्टूडेंट्स कॉलेज में मिले. हालांकि इन्हें बाद में चेतावनी देकर छोड़ दिया गया है.

दीवारें फांदकर कॉलेज में एंट्री कर रहे हैं स्टूडेंट्स

मेरठ कॉलेज में जहां एक ओर कॉलेज प्रशासन चेकिंग व सख्ती के तमाम दावे कर रहा है वहीं दूसरी ओर कॉलेज के ही स्टूडेंट्स गेट पर बिना किसी पूछताछ के आराम से एंट्री करते नजर आए. यही नहीं कॉलेज और लाइब्रेरी में तो चेकिंग अभियान चलता रहा लेकिन कॉलेज के मेन गेट पर चेकिंग के नाम पर सिर्फ खानापूुर्ती की गई. इतना ही नहीं कुछ स्टूडेंट्स दीवारें फांदकर कॉलेज में एंट्री करते दिखे.