- दून हॉस्पिटल में सोमवार से स्टाफ के लिए ड्रेस कोड लागू

- बिना आई कार्ड के नहीं होगी स्टाफ की हॉस्पिटल में एंट्री

- ओटी का समय सुबह 9 की बजाय अब होगा 8 बजे

देहरादून, स्वास्थ्य सचिव के औचक निरीक्षण और विभागीय पड़ताल के बाद दून हॉस्पिटल प्रबंधन एक्टिव मोड में आ गया है. हॉस्पिटल में सुधार की कवायद शुरू कर दी गई है. प्रबंधन द्वारा मरीजों की सुविधा के लिए ओटी का समय एक घंटा और बढ़ा दिया है. स्टाफ पर भी अनुशासन की लगाम कसी गई है. अब बिना आई कार्ड और ड्रेस कोड के स्टाफ को हॉस्पिटल में एंट्री नहीं दी जाएगी.

इलाज में लापरवाही के आये थे मामले

दून हॉस्पिटल में अव्यवस्थाओं का बोलबाला है. पिछले दिनों इलाज में लापरवाही के चलते दो नवजात और एक गर्भवती महिला की मौत का मामला सामने आने पर उच्चाधिकारियों ने हॉस्पिटल का औचक निरीक्षण किया था और हॉस्पिटल प्रबंधन को वार्निग दी थी. इसके बाद अब हॉस्पिटल प्रबंधन हरकत में आया है. हॉस्पिटल में व्यवस्थाएं दुरुस्त करने की कवायद शुरू कर दी गई है.

ओटी में 1 घंटे ओवरटाइम ड्यूटी

हॉस्पिटल प्रबंधन ने सबसे पहले ऑपरेशन के लिए भटक रहे मरीजों को राहत देने की तैयारी की है. सोमवार से ओटी का समय एक घंटा बढ़ जाएगा. सुबह 9 बजे शुरू होने वाला सर्जरी 8 बजे से ही चालू हो जाएगा. दिवाली में स्टाफ के अवकाश पर चले जाने से करीब 1 हफ्ते ओटी का काम प्रभावित रहा, जिसके कारण सर्जरी के मरीजों की लिस्ट लंबी होती चली गई. अभी भी सर्जरी के लिए करीब 50 मरीज वेटिंग लिस्ट में हैं. ऐसे में सर्जरी का समय एक घंटा बढ़ाकर वेटिंग लिस्ट को कम किया जाएगा ताकि मरीजों को जल्द राहत मिले.

ड्रेस कोड, आई कार्ड के बिना नो एंट्री

मरीजों की सुविधा और व्यवस्था में सुधार के लिए हॉस्पिटल स्टाफ को भी अनुशासित किया जा रहा है. हॉस्पिटल प्रबंधन ने स्टाफ को सख्त निर्देश जारी किये हैं कि वे आई कार्ड और ड्रेस कोड में ही हॉस्पिटल में एंट्री करें. ताकि, हॉस्पिटल का स्टाफ आसानी से पहचाना जा सके. सोमवार से कर्मचारी तय यूनिफार्म में ही हॉस्पिटल पहुंचेंगे. कर्मचारियों के ड्रेस कोड भी अलग-अलग हैं. डॉक्टर्स बिना एप्रन हॉस्टिपल में नजर नहीं आएंगे.

ड्यूटी पर लेट तो कटेगी सैलरी

एमएस डॉ. केके टम्टा ने बताया कि स्टाफ को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि वह प्रॉपर ड्यूटी टाइम पर हॉस्पिटल पहुंचे. बताया कि आधा घंटा लेट होने वाले कर्मचारी को भी नहीं बख्शा जाएगा. लेट आने वाले कर्मचारी की सैलरी काट ली जाएगी.

--------------

ऑपरेशन की वेटिंग लिस्ट कम करने के लिए ओटी का समय एक घंटा बढ़ाया गया है. इसके साथ ही स्टाफ को भी सख्त निर्देश दिए गए हैं कि वे प्रॉपर ड्रेस कोड और आई कार्ड के साथ हॉस्पिटल में दाखिल हों. ऐसा न करने वालों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी.

- डॉ. केके टम्टा, एमएस, दून हॉस्पिटल.