कराची (पीटीआई)। पाकिस्तान के केंद्रीय अनुबंधित क्रिकेटरों ने कोविड ​​-19 महामारी का मुकाबला करने के लिए राष्ट्रीय सरकार के आपातकालीन कोष में 50 लाख रुपये दान देने का फैसला किया है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष एहसान मनी ने बुधवार को कहा कि केंद्रीय अनुबंधित खिलाड़ी 50 लाख रुपये की सहायता राशि प्रदान करेंगे। जबकि बोर्ड के कर्मचारी, वरिष्ठ प्रबंधक स्तर तक के कर्मचारी अपना एक दिन का वेतन दान करेंगे। जो जनरल मैनेजर या उच्च पदों पर कार्यरत हैं, वे दो दिन की सैलरी देंगे। पीसीबी इन सभी फंडों को इकठ्ठा करेगा और इसे सरकार के कोरोना वायरस फंड में जमा करेगा।

पाक में फैल रहा वायरस

पाकिस्तान में घातक वायरस के 1,000 से अधिक सकारात्मक मामले दर्ज किए गए हैं। मनी ने कहा, "यह क्रिकेट बोर्ड का इतिहास है कि हम हमेशा मुश्किल समय में सरकार के साथ खड़े रहते हैं।" मनी ने कहा कि हालांकि वायरस के प्रकोप से क्रिकेट बाधित हुआ है, लेकिन सरकार द्वारा राष्ट्र के लिए खड़ा होना और महामारी के दौरान सभी एहतियाती कदम उठाना अधिक महत्वपूर्ण था।

सिंध प्रांत में सबसे ज्यादा कहर

पाकिस्तान में गुरुवार को पुष्टि किए गए कोरोना वायरस मामलों की संख्या बढ़कर 1098 तक पहुंच गई है। अकेले सिंध प्रांत में इस खतरनाक वायरस से 413 लोग संक्रमित हैं। इमरान सरकार ने बताया है कि इस वायरस ने देश में अब तक एक डॉक्टर सहित आठ लोगों की जान ले ली है। यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि इस देश में करीब एक महीना पहले कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया था। तब से लेकर वहां संक्रमित लोगों की संख्या में तेजी से इजाफा तो हुआ लेकिन इस खतरनाक वायरस के प्रसार को रोकने के लिए अभी तक प्रधानमंत्री इमरान खान की तरफ कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है। हालांकि, सिंध में बढ़ते मामलों को देखकर मुख्यमंत्री मुराद अली शाह ने रविवार को घोषणा की कि कोरोना वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए अगले 15 दिनों के लिए मध्यरात्रि से पूरे प्रांत में तालाबंदी लागू की जाएगी।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk