जेनेवा (एएफपी)।  पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि भारत और पाकिस्तान के बीच कभी भी जंग छिड़ सकती है। इसको लेकर उन्होंने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख मिशेल बैशलेट से कश्मीर का दौरा करने का आग्रह किया है। हालांकि, इसके साथ उन्होंने यह कहा कि उन्हें लगता है कि पाकिस्तान और भारत दोनों युद्ध के परिणामों को समझते हैं। कुरैशी ने जेनेवा में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) के 42वें सत्र के इतर मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, 'युद्ध पर किसी का नियंत्रण नहीं होता है, अगर स्थिति बन जाती है... तो कुछ भी संभव है। अभी जिस तरह के हालात बने हुए हैं, दोनों देशों के बीच कभी भी जंग हो सकता है।'

अमेरिका का साथ चाहता है पाक

कुरैशी ने कहा कि उन्होंने इस मामले में बैशलेट से बात की है और उनसे इस कश्मीर का दौरा करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा, 'बैशलेट को इस क्षेत्र का दौरा करना चाहिए और निष्पक्षता से रिपोर्ट देनी चाहिए, ताकि दुनिया को पता चले कि असल हालात क्या हैं।' पाक विदेश मंत्री ने कहा कि बैशलेट भी कश्मीर का दौरा करने के लिए तैयार हो गईं हैं। हालांकि, बैशलेट के ऑफिस ने फिलहाल इस बात की पुष्टि नहीं की है।  इसी बीच कुरैशी ने तनाव कम करने के लिए द्विपक्षीय वार्ता की संभावना से इनकार किया। उन्होंने कहा, 'इस मु्द्दे को सुलाझाने में अगर अमेरिका इस भूमिका को निभाता है, तो यह महत्वपूर्ण हो सकता है क्योंकि उसका क्षेत्र में काफी प्रभाव रहा है।'

कश्मीर पर पाक पीएम इमरान खान की नई चाल, अब पीओके में करेंगे जलसा

संयुक्त राष्ट्र ने ठुकराई कश्मीर पर मध्यस्थता की अपील

बता दें कि मंगलवार को UNHRC में भारत ने पाकिस्तान के कथित मानवाधिकार उल्लंघन के दावों को खारिज कर दिया। इसपर सफाई देते हुए भारत ने कहा कि कश्मीर में  हालात तेजी से सुधर रहे हैं। साथ ही उसने यह कहा कि ये द्विपक्षीय मुद्दा है और इसमें किसी भी तीसरे पक्ष की जरूरत नहीं है। वहीं बुधवार को संयुक्त राष्ट्र ने कश्मीर पर मध्यस्थता की अपील ठुकरा दी। इसी के चलते कुरैशी हर जगह मुंह की खाने के बाद दोनों देशों के बीच युद्ध की बात कर रहे हैं।

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk