इस्लामाबाद (पीटीआई)। पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को पाक सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा को छह महीने का कंडीशनल एक्सटेंशन दिया है। इमरान खान सरकार के लिए यह राहत भरा फैसला है। अदालत ने अपने फैसले में पाकिस्तान सरकार को छह महीने के भीतर इस मामले में आवश्यक कानून लाने का निर्देश दिया है। बाजवा का& तीन साल का कार्यकाल गुरुवार आधी रात को समाप्त हो रहा है और अब वह अगले छह महीने तक सेना प्रमुख के रूप में बने रह सकते हैं। प्रधानमंत्री खान ने 19 अगस्त को आधिकारिक अधिसूचना के माध्यम से जनरल बाजवा को सुरक्षा वातावरण का हवाला देते हुए तीन साल का एक्सटेंशन दिया था। सरकार ने इस मामले में शीर्ष अदालत की टिप्पणियों के बाद 19 अगस्त के आदेशों को वापस ले लिया और एक नई अधिसूचना जारी की जिसे बुधवार को अदालत ने खारिज कर दिया।

टेंशन में पाकिस्‍तान, तीन साल के लिए बढ़ा पाक आर्मी चीफ जनरल बाजवा का कार्यकाल

भारत-पाक के बीच बढ़े तनाव के दौरान लिया गया था बाजवा के कार्यकाल को बढ़ाने का फैसला

खान ने इस स्थिति से निपटने के लिए एक आपातकालीन कैबिनेट बैठक की, जिसमें जनरल बाजवा खुद विचार-विमर्श में शामिल हुए। मंगलवार को कानून मंत्री के रूप में अपने पद से इस्तीफा देने वाले फारूघ नसीम ने अदालत में जनरल बाजवा का प्रतिनिधित्व किया। बता दें कि जनरल कमर जावेद बाजवा का कार्यकाल बढ़ाने का फैसला भारत और पाकिस्तान के बीच जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद बढे तनाव के दौरान लिया गया था। बाजवा को नवंबर 2016 में तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने पाक सेना प्रमुख के पद पर नियुक्त किया था। इससे पहले 58 वर्षीय बाजवा ने रावलपिंडी कोर के कमांडर के रूप में काम किया था। माना जा रहा था कि वह इस साल रिटायर हो जायेंगे लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ।

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk